Loading...

आयुष्मान भारत योजना : 1.26 करोड़ लोगों को मिला इसका लाभ, साथ में 5 लाख का बीमा

0 6

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा है कि सितंबर 2018 में आयुष्मान भारत योजना शुरू होने के बाद में अब तक कुल 1 करोड लोग से अधिक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठा चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अभी तक 23000 से अधिक अस्पतालों को पैनल में शामिल किया गया है। इसमें प्राइवेट के साथ-साथ सरकारी अस्पताल भी शामिल किए गए हैं। आयुष्मान भारत योजना के तहत अब तक 12 करोड़ से अधिक ई कार्ड जारी किए जा चुके हैं यह वह कार्ड है जिसे दिखाकर इस योजना में शामिल व्यक्ति अपना इलाज करा सकता है।

हालांकि इसमें कहा गया है कि साथ ही आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एबी-पीएमजेएवाई के तहत आवंटित कुल राशि का 57 प्रतिशत कैंसर, हृदय संबंधी बीमारियों, अस्थिरोग और नवजात शिशुओं के उपचार में उपयोग हुआ है।

बयान के मुताबिक हर्षवर्धन नई योजना शुरू होने की दूसरी वर्षगांठ के उपलक्ष में आरोग्य मंथन 2.0 की अध्यक्षता की। उन्होंने कहा, “इस योजना के तहत 15,500 करोड़ रुपये से अधिक का उपचार किया गया है।

इसमें करोड़ों जिंदगी और घरों को तबाह होने से बचाया है। उपचार पर अधिक खर्च होने के कारण हर साल अनुमानित छह करोड़ परिवार गरीबी रेखा से नीचे चले जाते थे।” बयान के मुताबिक लाभार्थियों में लगभग आधी लड़कियां और महिलाएं हैं बयान के अनुसार हर्षवर्धन ने कहा है कि इन 2 वर्षों में योजना के तहत 1.26 करोड़ से अधिक लाभार्थियों को मुफ्त उपचार प्रदान किया गया है

Loading...

इस योजना के तहत देश के 10 करोड़ गरीब परिवारों को कैंसर सहित तेरह सौ से अधिक बीमारियों का मुफ्त इलाज हर परिवार को 500000 तक का बीमा कवर किया जाता है। अगर उसका नाम इस योजना के अंतर्गत आता है तो आप इसका लाभ लेना चाहते हैं तो आपके पास गोल्डन कार्ड होना बेहद जरूरी है इस कार्ड को आयुष्मान कार्ड के नाम से भी जाना जाता है

अगर आप नाम आयुष्मान भारत योजना में है और आप गोल्डन कार्ड बनवाना चाहते हैं तो आपको इस योजना में शामिल अस्पताल या जनसेवा केंद्र के संपर्क में करना होगा / ग्रामीण क्षेत्रों में कार्ड बनवाने के लिए जन सेवा केंद्र बनाए जाते हैं। जहां आप इस कार्ड को बनवा सकते हैं इसे बनवाने के लिए आपको महज ₹30 देने होंगे और साथ में राशन कार्ड आधार कार्ड और मोबाइल नंबर बताना होगा।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.