Loading...

GK IN HINDI-जानिए आखिर क्यों होती है बॉलीवुड के गानों की 5 मिनट की अवधि

0 17

यदि आप गाने सुनने का शौक रखते हैं तो यह बात आप जानते होंगे कि ज्यादातर फिल्मी गानों का अधिकतम समय 5 मिनट का होता है। हालांकि सवाल यह है कि आखिर ऐसा क्यों होता है हॉलीवुड हो चाहे बॉलीवुड में गाने की अधिकतम समय सीमा 5 मिनट की होती है। तो चलिए आज हम आपको इसी सवाल का जवाब देते हैं कि आखिर एक गाने की अवधि 5 मिनट की क्यों होती है। 5 मिनट के अंदर भी तो उसको खत्म किया जा सकता है।

फिल्मी संगीत का इतिहास पता करने निकलेंगे तो इस सवाल का जवाब बहुत आसानी से मिल जाएगा। कुछ संगीत प्रेमियों को आज भी इसका जवाब याद होगा। लेकिन भारतीय रेल में मुख्य यांत्रिक इंजीनियरी अनिमेष कुमार सिन्हा ने अपने ब्लॉग में इस बारे में काफी कुछ बताया है। श्री सिन्हा के मुताबिक मनुष्य की आवाज को रिकॉर्ड करने का सबसे पहला प्रयास किया गया था। जब भारत में अंग्रेजों के खिलाफ पहली हथियार बंद क्रांति हुई थी। फ्रेंच वैज्ञानिक एडवर्ड लियोन स्कॉटजो एक पब्लिशर्स और बुक्सेलर भी था। एक ऑटोग्राफ उसने बनाया था जो आवाज को कागज के क्राफ्ट पर एक पर रिकॉर्ड कर लेता था। 1878 में फोनोग्राम बनाया गया। फोनोग्राम की सबसे खास बात यह थी कि वह रिकॉर्ड की गई आवाज को प्ले करने पर सुना सकता था। इसे करीब 10 साल तक ग्रामोफोन पर पेटेंट हुआ ग्रामोफोन की सबसे बड़ी समस्या यह है कि कि उसे हाथ से घुमाना पड़ता था।

1901 में विक्टर कंपनी द्वारा एक रिकॉर्ड रिलीज की गई। जो मोटर से चलती थी और 78RPM वाली 10 इंच व्यास साइज में बनाई गई थी मोटर से चलने के कारण है काफी लोकप्रिय हुई। 1925 में ऐसे ही स्टैंडर्ड मान लिया। 78 RPM के 10 इंच वाले रिकॉर्ड लगभग 3 मिनट चलते थे। बाद में इसे अपग्रेड करके 12 इंच वाला रिकॉर्ड बनाया गया। जो लगभग 5 मिनट तक चलता था। यही कारण है कि ज्यादातर गानों को 5 मिनट की अवधि के भीतर ही समाप्त हो जाने वाला बनाया गया। ताकि एक रिकॉर्ड में पूरा गाना आसानी से चल सके।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.