Loading...

नीलग‍िरी के पत्तों में छ‍िपा है सांस की तकलीफ का इलाज, जानिए इसके बेहतरीन गुणकारी फायदें

0 37

नीलगिरी सदाबहार पौधा होता है। यह संक्रमण जैसे खांसी जुकाम और भीड़ के लक्षणों को कम करने के लिए किया जाता है। इसके साथ ही है कई तरह के स्वास्थ्य लाभ ही देता है। आपको बता दें कि यह मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द से निजात दिलाती है। ऐसे ही इसके पेड़ से निकलने वाला तेज का इस्तेमाल कई तरह के चीजों में किया जाता है आपको बता दें कि यूकेलिप्टस के पत्तों का इस्तेमाल अस्थमा और सांस संबंधित कई बीमारियों के लिए किया जाता है इसी तरह यह कई कारणों में अहम माना जाता है। आज हम आपको इस आर्टिकल में से कुछ बेहतरीन फायदे के बारे में बताते हैं।

सर्दी और ब्रोंकाइटिस के लिए ये एक तरीके का लोकप्रिय घरेलू उपाय है। आपको बता दें कि नील गिरी कफ को कम करने के लिए काफी मददगार होती है खांसी व कई तरह के दबाव में नीलगिरी का तेल इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि शोधकर्ताओं ने सांस की समस्या को पूरी तरह से ठीक करने के लिए यूकेलिप्टस पर अध्ययन करने की बात कही है।

आमतौर पर इस तरह के हर्बल का इस्तेमाल सहाय के लिए किया जाता है। जो आपके साहस और संक्रमण को कम करने का काम करता है यूकेलिप्टस की चाय पीने के लिए आप इसकी पत्तियों का इस्तेमाल करें। चाय को बनाते समय अच्छी तरह से से उबालें और गुनगुना ही रहने पर इसका सेवन करें।

अगर आपके गले में कफ या भारीपन महसूस हो रहा हो तो आप इसके गरारे भी कर सकते हैं। यूकेलिप्टस से गरारे करने से आप बंद नाक और जुकाम से छुटकारा पा सकते हैं। और आपको जो काम में भी फायदा मिलेगा।

Loading...

नीलगिरी में मौजूद गुलाब की रोग प्रतिरोधक क्षमता को अच्छा करते हैं। यह आपके दातों को साफ़ करती हैं इसके साथ ही नीलगिरी तौर पर मौजूद बैक्टीरिया से लड़ने के लिए सक्रिय होती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.