Loading...

घर में धन की होगी वर्षा बस मोक्षदायिनी अमावस्या के दिन ऐसे कराएं ब्राह्मणों को भोजन..

0 4

आश्विन मास की अमावस्या तिथि को सर्व पितृ अमावस्या के नाम से जाना जाता है। यह इस साल 17 अक्टूबर को पड़ रही है। हालाकिं जानकारी के लिए आपको बता दें श्राद्ध कर्म में इसका बड़ा महत्व है शास्त्रों में इसे मोक्षदायिनी अमावस्या भी कहा जाता है। सर्वपितृ अमावस्या के दिन पितरों के निर्मित कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए कि आपको बताते हैं से जुड़ी कुछ खास बातों के बारे में।

सर्वपितृ अमावस्या वाले दिन पितरों के निर्मित भूखे लोगों में भोजन के रूप में बैठे लोगों को मीठे चावल जरूर दें। ऐसा करने से घर की आर्थिक परेशानी दूर होती है इस दिन पितरों का आशीर्वाद पाने के लिए ब्राह्मणों को घर पर बुलाएँ आदर के साथ में भोजन कराएं और दक्षिणा देकर उनको विदा करें।

इस दिन सुबह स्नान करने के बाद आटे की गोलियां बनाएं और किसी तालाब या नदी के किनारे जाकर मछलियों को खिला दें ऐसा करने से सभी तरह की आर्थिक परेशानियों से निजात मिलता है।

 

आपको बता दें कि अमावस्या के दिन अपने घर में नींबू लेकर आए और उसे सारा दिन अपने घर में रखें रात के समय सात बार अपने ऊपर से उतारकर चार भागों में बांट कर किसी चौराहे पर फेंक दें। ऐसा करने से नजर उतर जाती है।

Loading...

यदि आप कालसर्प दोष से पीड़ित हैं अमावस्या के दिन चांदी के नाग नागिन की पूजा करें और इसे बहते हुए जल में प्रवाहित करें। ऐसा करने से भी कालसर्प दोष दूर हो जाता है इस दिन काले कुत्ते को तेल से सूखी रोटी खिलाने से भी शत्रु का भय दूर होता है। और शत्रुओं पर विजय होती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.