Loading...

खांसी, कब्ज, अस्थमा, टीबी, छाले, मूत्र रोग इन सभी समस्याओं का काल है इस पौधे के पत्ते

0 883

इस धरती पर कई सारे ऐसे पेड़ पौधे मौजूद हैं जिनका इस्तेमाल कई तरह की बीमारियों के इलाज में किया जाता है। ऐसा यह पेड़ होता है अडूसा यानी कि वसाका का पौधा आपको बता दें या पौधा कई तरह की बीमारियों को दूर करता है। इसका इस्तेमाल अधिक औषधि के रूप में किया जाता है। कहते हैं कि सूखी खांसी दूर करने के लिए अडूसा के पत्ते मुनक्का और मिश्री का काढ़ा पीना चाहिए। घुटनों के दर्द से राहत पाने के लिए और सूजन को कम करने के लिए यह किसी वरदान से कम नहीं है। चलिए आज हम आपको इसके और भी फायदों के बारे में बताते हैं।

आयुर्वेदिक चिकित्सा विशेषज्ञों के मुताबिक अडूसा पेड़ के फल फूल पत्ते तथा जड़ को रोग विकारों निवारण में प्रयुक्त किया जाता है।अडूसा न केवल खासी, श्वास, रक्तपीत और कफ के लिए गुणकारी है। बल्कि इसके पत्ते से बना काढ़ा कब्ज और शरीर निर्बलता फिर यह दवा का काम करता है।

अडूसा पाउडर और शहद मिलाकर दिन में तीन से चार बार चाटने से अस्थमा रोग से निजात पाया जा सकता है। इसके पत्ते को पीसकर किसी कपड़े में बांध कर इसका रस निकालकर 20 ग्राम रोजाना पिए। ऐसा करने से मलद्वार से निकलने वाले खून से निजात मिलती है।

मासिक धर्म में अधिक खून निकलने की समस्या से अडूसा के पत्ते का रस मिश्री मिलाकर सेवन करने से लाभ मिलता है। अडूसा के पत्ते के रस में तुलसी अदरक का रस मुलेठी का चूर्ण मिलाकर सेवन करने से ज्वर में भी काफी हद तक आराम मिलता है।

Loading...

अडूसा की लकड़ी से दातुन करने से दांतों में मसूड़ों की समस्या ठीक हो जाती है। इसी के साथ से नियमित दातुन अगर किया जाए तो दांतों और मसूड़ों के दर्द से राहत मिलती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.