Loading...

मलमास के महीने में चमक जायेगी आपकी बंद किस्मत, बस नियमित रूप से करें तुलसी के साथ ये काम

0 8

मलमास का महीना मुख्य रूप से पूजा पाठ का महीना माना जाता है। और यह पूर्ण रूप से भगवान विष्णु को समर्पित होता है। इस महीने में कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है। इसलिए सभी प्रकार के सांसारिक और भौतिक सुखों से तृप्त होकर प्रभु भजन में रम जाने का यह बेहतरीन समय होता है। मलमास को पुरुषोत्तम मास और अधिक मास भी कहा जाता है। भगवान श्री हरि ने इस महीने को अपना नाम दिया था। इसलिए यह मासूम की भक्ति को समर्पित किया जाता है।

खरमास को पुरुषोत्तम मास कहा जाता है जो कि श्री हरि के विभिन्न नामों में से एक है। इसलिए इस माह की दोनों एकादशी में भगवान विष्णु को खीर का भोग लगाना चाहिए और उसमें आप तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल कर सकते हैं। क्योंकि भगवान विष्णु को तुलसी अति प्रिय है। पीले रंग का संबंध भगवान विष्णु से माना जाता है। इसलिए इस महीने पीले वस्त्र या फिर पीले रंग का अनाज दान करना चाहिए ऐसा करने से भी भगवान विष्णु को प्रसन्न होते हैं।

मलमास में तुलसी के पौधे के सामने है रोजाना गाय के घी का दीपक जलाएं और ओम नमो भगवते वासुदेवाय मंत्र का जाप करें। 11 बार तुलसी की परिक्रमा करें भगवान विष्णु को तुलसी भी बहुत ज्यादा प्रिय है। ऐसा करने से घर के संकट दुख दूर होते हैं और घर में सुख शांति का वास होता है।

मलमास में रोजाना ब्रह्म मुहूर्त में उठकर भगवान विष्णु को केसर युक्त दूध से अभिषेक करें। तुलसी की माला से 11 बार ओम नमो भगवते वासुदेवाय का जाप करें ऐसा करने से भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं। सुबह उठकर सूर्य को जल दे श्री हरि का ध्यान करें और पीले पुष्प अर्पित करें ऐसा करने से आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाएंगी।

Loading...
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.