Loading...

800 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चलने वाली इस ट्रेन को भारत ला रही यह सरकारी कंपनी! पटरी को नहीं छोटी यह मैग्लेव ट्रेन..

0 5
जैसा कि आप सभी जानते हैं भारत में बदलते समय के साथ कई बदलाव देखने को मिले हैं। क्षेत्र चाहे जो भी हो पहले के मुकाबले सभी क्षेत्रों में आधुनिक तौर पर बदलाव हुए हैं। इसी कड़ी में सार्वजनिक क्षेत्र भारत हेवी इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड ने मैगलेव ट्रेन को भारत लाने के SwissRapide AG लिए के साथ गठबंधन किया है। मैग्लेव ट्रेन का मॉडल मध्यप्रदेश के इंदौर में राजा रामन्ना प्रगत प्रौद्योगिकी केंद्र ने फरवरी 2019 में तैयार किया था।
केंद्र के वैज्ञानिक आरएन शिंदे ने 50 लोगों की टीम के साथ मैगलेव ट्रेन के मॉडल को 10 साल की कड़ी मेहनत के साथ बनाया है। इसमें ट्रेन मैग्नेटिक फील्ड की सतह पर दौड़ती है। आपको बता दें कि यह ट्रेन 800 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चलती है, फिलहाल यह ट्रेन जापान और चीन में ही चलती है।
आपको बता दें कि पढ़ रही हो के साथ नहीं बल्कि यह ट्रेन हवा से बातें करते हैं। भेल द्वारा कहा गया है कि शहरी परिवहन में अपनी पहुंच बढ़ाने के लिए उन्होंने के साथ गठबंधन किया है। इसके अंतर्गत कंपनी मेल गे मैग्लेव ट्रेन को भारत लेकर आएगी। यह ट्रेन पटरी पर दौड़ने की वजह हवा से बातें करती है।
Loading...
इसके लिए ट्रेन को मैग्नेटिक फील्ड की मदद से नियंत्रित किया जाता है। यही कारण है कि उसका पति से कोई सीधा संपर्क नहीं होता यह ट्रेन 500 से 800 किमी प्रति घंटा के रफ्तार से दौड़ती है। भेल द्वारा बताया गया कि यह समझौता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मेक इन इंडिया और आत्मनिर्भर अभियान को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है।
इतना ही नहीं, यह तकनीक अभी तक चीन और जापान को छोड़कर अमेरिका के पास भी नहीं है। आरआरसीएटी ने जब मैगलेव ट्रेन का मॉडल बनाया था तब यह माना जा रहा था कि भारत उस टेक्नोलॉजी के बहुत करीब पहुंच चुका है जो अमेरिका के पास भी नहीं है। अब यह टेक्नोलॉजी से चीन और जापान के पास ही सीमित है।
भारत में हाई स्पीड ट्रेन को लेकर आकर्षण काफी बढ़ता नजर आ रहा है। भारत में सेमी हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस शुरू हो चुकी है यह ट्रेन 8 घंटे में नई दिल्ली से वाराणसी तक का सफर क्या कर लेती है। इसके अलावा मुंबई और अहमदाबाद के बीच योजना पर भी काम चल रहा है। इस से 508 किलोमीटर की दूरी सिर्फ 2 घंटे 7 मिनट में कर ली जाती है।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.