Loading...

ये है दुनिया की सबसे भयंकर किताब, जिसको न तो आज तक कोई पढ़ पाया है न समझ पाया हैं

0 3

यह दुनिया रहस्यों से भरी हुई है। कुछ रहस्यों को तो इंसानों ने सुलझाने में सफलता प्राप्त कर ली। लेकिन आज भी दुनिया में कई सारे ऐसे रहस्य मौजूद हैं। जिन्हें सुलझाना लगभग नामुमकिन है। एक ऐसा ही रहस्य है 240 पन्नों की एक किताब। जिसके बारे में कहा जाता है कि आज तक से कोई भी व्यक्ति नहीं पढ़ पाया है। इतिहासकारों के मुताबिक यह किताब 600 साल पुरानी है। कार्बन डेटिंग से इस बात का पता चला है कि इसे 15वीं सदी में लिखा गया है। इस किताब को हाथ से लिखा गया है लेकिन क्या लिखा हुआ है किस भाषा में लिखा हुआ है या आज तक कोई भी व्यक्ति नहीं समझ पाया है। यह किताब एक अनसुलझी पहेली की तरह है।

इसे ‘वॉयनिक मैनुस्क्रिप्ट’ नाम दिया गया है। इस किताब में इंसानों से लेकर पेड़-पौधों तक के कई चित्र बनाए गए हैं। लेकिन इसमें हैरानी की बात तो यह है कि इस किताब में कुछ ऐसे पेड़ पौधों के चित्र भी है। जो धरती पर मौजूद ही नहीं है इस किताब का नाम है। ‘वॉयनिक मैनुस्क्रिप्ट’ इटली के एक बुक डीलर विलफ्रीड वॉयनिक के नाम पर रखा गया है। माना जाता है कि उन्होंने ही इस रहस्यमय किताब को साल 1912 में कहीं से खरीदा था।

हालांकि कहा जाता है कि इस रहस्यमय किताब में कई पन्ने हुआ करते थे, लेकिन समय के साथ इसके कई पन्ने खराब हो गए। फिलहाल इसमें सिर्फ 240 पन्ने ही बचे हैं। यह किताब के बारे में कुछ खास बात तो नहीं पता चली है लेकिन इतना जरुर पता चला है कि किताब में लेकर गए कुछ शब्द लैटिन भाषा और जर्मन भाषा में लिखे गए हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.