Loading...

अगर आप भूल गए है पितरों का श्राद्ध तो आज ही अपनाएं ये खास उपाय पितृ हो जाएंगे खुश

0 19

श्राद्ध पक्ष या पितरपक्ष चल रहा है। इन दिनों में लोग अपने पितरों की आत्मा की शांति व उन्हें खुश करने के लिए उनका श्राद्ध करते हैं। मान्यता है कि इन दिनों में ब्राह्मण को भोजन खिलाने दान करने से पितरों की असीम कृपा मिलती है। इन्हें पितरों की अलग-अलग तिथि के दिन के हिसाब से किया जाता है मगर ऐसे बहुत सारे लोग होते हैं। जिन्हें अपने बच्चों की तिथि के बारे में जानकारी नहीं होती। ऐसे में वह अपने पितरों का श्राद्ध नहीं कर पाते। हालांकि मान्यता है कि पितरों की आत्मा की शांति के लिए उनका साथ करना बेहद जरूरी होता है। नहीं तो उनकी नाराजगी का सामना करना पड़ता है। ऐसे में आज हम आपको बताएंगे कि अगर आपको अपने पितरों के श्राद्ध तिथि नहीं पता है। तो आप कैसे कुछ खास उपायों को करके उनकी आत्मा को शांत कर सकते हैं।

अगर आप अपने पितरों का श्राद्ध करना भूल गए हैं। तो ऐसी स्थिति में सुबह करना है कि तांबे के लोटे में पानी भर है। इसमें थोड़ा सा कच्चा दूध जों तिल और चावल के दाने रखें इस बात का ध्यान रखें कि चावल टूटे हुए नहीं होने चाहिए। तैयार तेल को दक्षिण दिशा की तरफ अपना मुंह करके पीपल के वृक्ष को चढ़ा दें। ऐसा करने से आपके पितृ खुश हो जाएंगे। पितृपक्ष के दौरान रोज सुबह लोटे में पानी और थोड़े से काले तिल मिलाकर दक्षिण दिशा की ओर पितरों का ध्यान करते हुए उन्हें अर्पित करें। ऐसा करने से भी खुश होते हैं। एक लोटे में थोड़ा सा कच्चा दूध और पानी भरकर उसे दक्षिण दिशा की ओर मुंह करके ध्यान करते हुए अर्पित करें। ऐसा करने से भी पितरों की आत्मा को शांति मिलती है। रोजाना सुबह गाय को हरा चारा खिलाने से भी पितरों की आत्मा को शांति मिलती है। आपके घर के आसपास कोई गाय नहीं है तो ऐसे में गौशाला जाकर आ गाय को चारा खिला करते हैं।

इन दिनों काले तिल का दान करना बेहद शुभ माना जाता है। ऐसे में रोजाना एक मुट्ठी भर तेल का दान करने से पितरों की आत्मा को शांति मिलती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.