Loading...

मध्यप्रदेश के इस किसान ने ग्लूकोज की खाली बोतलों से बनाया ड्रिप सिस्टम, उगाई अपनी फसल

0 23

भारत देश में जितने लोग खेती करते हैं और उन्हें अन्नदाता कहा जाता है। हालांकि सूखा भी उनकी जमीन पर आए दिन होता है और बाढ़ भी आती है। वही पैसे की तंगी से परेशान किसान आत्महत्या भी करता है। लेकिन फिर भी अन्न वही बोता हैं। जिससे दुनिया की भूख सम्पात हो जाए । देसी किसान के लिए पानी की किल्लत सबसे बड़ी समस्या है। इस बीच एक शानदार तरीका मध्य प्रदेश के किसान ने निकाल लिया है दरअसल खाली ग्लूकोज की बोतलों से उसने ड्रिप सिस्टम बनाया है।

एक न्यूज़ रिपोर्ट के मुताबिक मध्यप्रदेश के आदिवासी बहुल जिले के झाबुआ का यह मामला है। दरअसल एक पहाड़ी क्षेत्र है वहां के रहने वाले रमेश बारिया जो किसान हैं उन्होंने इस परेशानी का हल निकाल लिया है।

राष्ट्रीय कृषि नवाचार परियोजना के कृषि वैज्ञानिकों ने साल 2009 2010 में संपर्क किया इस दौरान उन्हें अपने इलाके की सभी परेशानियां उन्होंने बताएं इसके बाद उन्हें वैज्ञानिकों ने गाइडलाइंस उन्होंने कहा कि सब्जी की खेती सर्दी और बरसात के मौसम में छोटे से पेच से शुरू की। उनकी जमीन खेती करने के लिए बिल्कुल उचित थी करेला स्पंज लौकी उन्होंने उगाना शुरू कर दिया और अपनी एक छोटी सी बगिया बना ली।

जैसे कभी पानी की भारी कमी मॉनसून में देरी होने के कारण हो रही थी फसल ऐसे में खराब होने का डर था। इसलिए विशेषज्ञों का सुझाव फिर से किसान ने लिया उन्होंने कहा कि वेस्ट ग्लूकोस की बोतलों की मदद वः ले सकते हैं। यह सिंचाई तकनीक उन्होंने अपनाई।

Loading...

आपको बता देंगे ग्लूकोस की बोतल ले पहले तो उन्होंने 20 प्रति किलोग्राम के हिसाब से खरीदी थी उसके बाद ऊपर ही आधे हिस्से को एक इनलेट बनाने के लिए काटा। इसके बाद पौधों के पास उन्हें फिर लटका दिया। पानी का प्रवाह बूंद-बूंद से इन बोतलों के जरिए पौधों में आता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.