Loading...

एक फोन कॉल से भी हो जाता है बैंक फ्रॉड, बरतनी चाहिए यह सावधानियां! जानें पूरी खबर..

0 13
बदलते समय के साथ साथ बैंकिंग फ्रॉड की वारदात भी बढ़ती जा रही है। बैंक से कॉल आने पर हमेशा हमें सचेत रहना आवश्यक होता है, क्योंकि साइबर्ट्रक बैंक अधिकारी बनकर आपको फर्जी कॉल के माध्यम से चूना लगा देते हैं।
यदि आप खुद को इन बैंक ठगी से बचाना चाहते हैं तो आपको थोड़ी सावधानियां बरतनी होंगी। साइबर ठग बड़े ही आसानी से एक फोन कॉल के माध्यम से ही आपका पूरा खाता खाली कर सकते हैं। ऐसे में सबसे पहले यह बात करनी जरूरी है कि बैंक के नाम पर आने वाले फर्जी कॉल फर्जी है या नहीं।
अब आपके मन में यह सवाल जरूर उठ रहा होगा कि एक ग्राहक इस बात की पुष्टि कैसे कर सकता है कि आने वाला कॉल असली है या फर्जी। हम आपको एक ऐसा आसान तरीका बताने जा रहे हैं जिससे आप इस बात का पता लगा सकते हैं।
Loading...
बैंकों के अनुसार यदि कोई बैंक आपको कॉल करें और आपसे वन टाइम पासवर्ड, क्रेडिट या डेबिट कार्ड नंबर, कार्ड का सीवीवी नंबर, सिक्योर पासवर्ड, एटीएम पिन या इंटरनेट बैंकिंग लॉगइन आईडी, एक्सपायरी डेट, पासवर्ड आदि जानकारियां मांगते हैं तो आपको यह तुरंत समझ जाना चाहिए कि यह कोई फर्जी है।
बैंक द्वारा इस बात की पुष्टि पूरी तरह कई बार की गई है कि उनके अधिकारी कभी भी किसी ग्राहक को उनके खाते की निजी जानकारियां मांगने के बाद नहीं होते हैं, ना ही इसके लिए वह ग्रह को कॉल करते हैं। ऐसे में इस तरह का फोन यदि आपके पास आता है तो उसका जवाब ना दें और जानकारी को कभी भी भूल कर भी फोन या ऑनलाइन माध्यम से शेयर ना करें।
आपके खाते से जुड़ी निजी जानकारियां आपकी खुद की प्रॉपर्टी होती हैं, जिन्हें आप को सजा नहीं करना चाहिए। आपको बता दें कि खाते से जुड़ी यह निजी जानकारियां बैंक के कर्मचारियों और सुरक्षा अधिकारियों के पास तक नहीं होती हैं।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.