Loading...

अगर आपके पास भी आ गया है फटा नोट तो इस तरह पाए बेहतर रिटर्न, जानें तरीका..

0 4
आजकल के बदलते दौर में भारत तेजी से डिजिटलाइजेशन की ओर अग्रसर है। ऐसे में आजकल सभी लोग ऑनलाइन पेमेंट और एटीएम क्रेडिट और डेबिट का प्रयोग करते नज़र आते हैं। डिजिटल बैंकिंग के इस दौर में बैंक के दूसरे वित्तीय संस्थान कार्ड वेस्ट ट्रांजैक्शन की सुविधा भी देते हैं।
ऐसे में कई बार ऐसा देखा जाता है कि एटीएम से पैसे निकालते समय एटीएम से फटे और गले हुए नोट निकल आते हैं, जिन्हें प्रयोग में लाना मुश्किल होता है। यदि आपके साथ भी ऐसा होगा तो आप क्या करेंगे। आइए जानते हैं ऐसा होने पर आपको क्या करना चाहिए-
यदि आपके साथ भी ऐसा होता है कि आप एटीएम से ट्रांजैक्शन करें और आपके पास कटे और गले हुए नोट आए तो यह बैंक की जिम्मेदारी होती है, कि वह एटीएम से बेहतर से बेहतर नोट डाले ताकि लोगों को परेशानी का सामना ना करना पड़े। बैंक की बहुत कोशिशों के बाद भी अगर ग्राहकों के हाथ में कटा नोट आ जाता है तो उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।
Loading...
ऐसे में आपके समझ में भी नहीं आता कि इसका क्या करें और क्या नहीं। यदि आपके पास ऐसा नोट आता है तो आपको घबराने की आवश्यकता नहीं होनी चाहिए कटे और गले नोटों के बदले आपको बैंक से रिफंड प्राप्त हो जाता है। इसके लिए आपको कुछ नियमों और प्रक्रिया को निभाना होता है। यदि आप ऐसी स्थिति में आते हैं तो आपको सबसे पहले सीसीटीवी कैमरा का सहारा लेना चाहिए।
यदि आप ATM मैं ही खड़े हैं और अपने एटीएम से कैश प्राप्त किया है और आपके हाथ फटे नोट लगे हैं तो आपको तुरंत सीसीटीवी के सामने नोटों की गिनती करनी चाहिए इस दौरान आपको कटे और गले नोटों को सीसीटीवी के सामने दिखाना चाहिए। इसके बाद आप बैंक में जाकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। बैंक आपकी सीसीटीवी फुटेज देखकर आपकी मदद जरूर करेंगे।
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के नियमानुसार दिसंबर 2011 में कहा गया था कि एटीएम के खराब नोटों के लिए बैंक ही जिम्मेदार होती है। ऐसे में आप सीधे जाकर कटे और गले नोटों का बदलाव बैंक से कर सकते हैं। एटीएम में खराब नोट के लिए सिर्फ बैंक ही जिम्मेदार होगा। आरबीआई के नियमों के अनुसार आपको नुकसान की भरपाई बैंक करेगा।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.