Loading...

डिजिटल ट्रांजैक्शन के वक्त रहे सावधान! फ्राॅड से बचने के लिए अपनाएं यह तरीके..

0 3
जिस प्रकार देश में बड़ी ही तेजी से डिजिटल ट्रांजैक्शन अग्रसर की हो रहा है। उसी के चलते कई तरह के फ्रॉड भी देखने को मिलते हैं। बैंक फ्रॉड के साथ-साथ डेबिट कार्ड के साथ फ्रॉड भी अब एक आम बात हो चुकी है। इससे बचने के लिए देश की सबसे बड़ी बैंक एसबीआई ने कई अलर्ट जारी भी किए हैं।
इसमें पुराने और एक्सपायर कार्ड को रखने में लापरवाही ना बरतें पुराने कार्ड को भी उतनी ही थे, हिफाजत से रखें जितना कि आपने कार्ड को रखते हैं। यह चेतावनी मैग्नेटिक स्ट्रिप वाले कार्ड से बढ़ती धोखाबढ़ी के बाद जारी किया गया है।
आपको बता दें कि स्टेट बैंक ने अपने ग्राहकों के लिए कई प्रकार के सतर्कता टिप्स जारी किए हैं। आपको शायद नहीं पता होगा लेकिन मैग्नेटिक स्ट्रिप वाले कार्ड्स के स्थान पर बैंकों में आधारित यानी कि ईवीएम डेबिट कार्ड जारी किए गए हैं। नया कार्ड आने के बाद ग्राहकों को पुराने कार्ड को बेकार समझकर फेंक देने की लापरवाही कई जगह बढ़ती गई है।
Loading...
इसका फायदा हैकर बड़ी ही आसानी से उठा लेते हैं, क्योंकि उस कार्ड पर भी आप का 16 या 19 नंबर वाला डिजिट उपलब्ध होता है। जिसका इस्तेमाल करके हैकर आपके खाते को पूरी तरह झाड़ू लगा सकता है  आरबीआई ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा है कि लोकपाल को मिली कुल शिकायतों में 27% ऐसे ही मामले आए हैं, जिनमें पुराने कार्ड से खाता हैक किया गया है।
एसबीआई द्वारा फ्रॉड से बचने के लिए जारी किए गए अलर्ट में कई ध्यान रखने योग्य बातें हैं। आइए जानते हैं कौन सी बातें ऐसी हैं जो कि एसबीआई ने ध्यान रखने योग्य बताइ हैं। बैंकों के मुताबिक, ज्यादातर यूजर्स एटीएम से पैसा निकालते समय उसमें जलने वाली लाइट पर ध्यान नहीं देते उसी वक्त खतरा फ्रॉड का बढ़ जाता है। यह बात ध्यान रखने योग्य है कि आप एटीएम से पैसा निकालते समय यह जरूर चेक करने की उसमें ग्रीन कलर की लाइट जल रही है या नहीं।
दूसरा टेप यह है कि एटीएम स्लिप को भी कभी भी उसके केबल में ना फेंके बैंक के मुताबिक, स्लिप में आपके बैंक अकाउंट की डिटेल्स होती है ऐसे में स्लिप का प्रयोग अकाउंट हैक करने के लिए हैकर कर सकता है। स्लिप को हमेशा छोटे-छोटे टुकड़ों में फाड़ कर फेंके। इसके लिए कोशिश करें कि स्लिप प्रिंट करने का ऑप्शन एटीएम को ना दें, क्योंकि आपके सारे ट्रांजैक्शन डिटेल ऑनलाइन और मोबाइल पर ही आ जाते हैं। जिसके बाद आपको उस स्लिप की कोई आवश्यकता नहीं होगी।
बदलते दौर के साथ-साथ शॉपिंग और ऑनलाइन खरीदारी या फिर ट्रांजैक्शन के लिए डेबिट कार्ड का प्रयोग किया जाता है। शॉपिंग के दौरान पिन डालते समय होटल चौक पेट्रोल पंप या दूसरी कई अन्य जगहों पर सावधानी जरूर बरतनी चाहिए। एटीएम में पैसे निकालते वक्त भी अपनापन डालते समय काफी सतर्कता बरतनी चाहिए 48% फ्रॉड के मामले इसी प्रकार किए जाते हैं।
जैसा कि हमने आपको बताया बदलते समय के साथ ऑनलाइन शॉपिंग का प्रचलन काफी बढ़ गया है। बैंक के अनुसार भी यही बात कही गई है बैंक द्वारा बताया गया कि आजकल ऑनलाइन शॉपिंग के ऑप्शन कई तरह के अस्थाई इवेंट में भी मौजूद होते हैं, जिसमें मैच ट्रेड फेयर ऑटो फेयर कई सारे प्रदर्शनी दूसरे स्टेज शो में भी कई सारे स्थाई स्टॉल लगाए जाते हैं। वहां पर भी अपने कार्ड से पेमेंट किया जाता है। ऐसे में वहां कार्ड पेमेंट से बचें और केवल प्रतिष्ठित कंपनियों में ही कार्ड का प्रयोग करें।
अपने खाते की केवाईसी कराना हो या कोई और काम कई बार हम लोग अपना खाता नंबर को मोबाइल से लिंक करते ही हैं। ऐसे में भी एटीएम फ्रॉड होने पर हमें पूरी जानकारी नहीं मिल पाती है। ऐसे में अपने खाते को हमेशा आपके द्वारा ही इस्तेमाल किए जाने वाले मोबाइल नंबर को जरूर लिंक करें, जिससे आपके हाथों से हो रहे आवागमन का पता आपको एक एक सेकंड में लगता रहे।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.