Loading...

बाइक बोट देश के सबसे बड़े घोटाले में यूपी में मिली 178 बाइक्स, एक ही बार में की गई 5 शहरों में छापेमारी..

0 23
देश के सबसे बड़े बाइक बोर्ड स्कीम के बारे में कौन नहीं जानता है देश में धोखाधड़ी के लिए मशहूर स्कैम बाइक बोट को लेकर एक नया खुलासा सामने आया है। उत्तर प्रदेश के नोएडा में हुए एक्सकैम में छापेमारी में करीब 178 बाइक बरामद की गई है।
आपको बता दें कि यह सभी बाइक अनयूज़्ड है और इन्हें गर्वित इन्नोवेटिव प्रमोटर्स के नाम पर रजिस्टर्ड किया गया है। जानकारी के मुताबिक पता लगा है कि इन बाइक्स को मेरठ हापुड़ गाजियाबाद मुजफ्फरनगर और बागपत से बरामद किया गया है, जिनमें से गाजियाबाद से 72, हापुड़ से 22, मुजफ्फरनगर से 50, मेरठ से 21 और बागपत से तेरा गाड़ियां बरामद की गई है।
बाइक बोट स्कैम में प्रमोटरों कंपनी के कर्मचारियों सहित पूरे देश में 2 लाख से भी अधिक इन्वेंटर इन्वेस्टर को धोखा मिला है। इस मामले को फरवरी में ईओडब्ल्यू को दिया गया था, जिस पर बात करते हुए ईओडब्ल्यू के एडिशनल सुपरिटेंडेंट राम सुरेश यादव द्वारा बताया गया कि पहले से जप्त किए गए दस्तावेजों के आधार पर हमने विभिन्न जिलों में कंपनी के एजेंटों पर निगाह रखी, जिसके बाद 5 टीमों का गठन किया गया और 5 जिलों में एक साथ ही छापेमारी कर गाड़ियों को बरामद किया। इसके साथ ही उन्होंने भविष्य में इस तरह की और वसूली करने की उम्मीद जताई है।
Loading...
खबरों की मानें तो बरामद की गई सभी गाड़ियों में से ज्यादातर का इस्तेमाल नहीं किया गया है। वह सारी फर्स्ट हैंड है और यह सभी मोटरसाइकिल गोडाउन में पर की गई थी। ग्रेटर नोएडा में 2018 में बाइक बोर्ड योजना बड़े शहरों में टैक्सियों की बढ़ती मांग के चलन का फायदा उठाकर इस स्कीम को अंजाम दिया। इस पूरे मामले में कंपनी ने उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश  हरियाणा और राजस्थान सहित कई राज्यों में दो लाख से भी ज्यादा निवेशकों को 1 साल के अंदर पैसा दोगुना करने का झांसा देकर लगभग 1300 करोड़ रुपए का धोखा किया है।
वहीं अभी तक पूरे घोटाले में 19 आरोपियों के खिलाफ 57 मामले दर्ज किए जा चुके हैं। साथ ही फर्म के मालिक संजय भाटी समय 19 आरोपियों में से 10 को जेल भी पहुंचा दिया गया है।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.