Loading...

अगर आप भी कराने जा रहे हैं पुरानी गाड़ी की आरसी को अपने नाम तो जान लें यह जरूरी बातें, वर्ना भरना पड़ सकता है जुर्माना..

0 14

 

आज के समय में हर कोई अपनी खुद की गाड़ी या वाहन प्राप्त करना चाहता है, लेकिन कई बार ऐसा होता है कि पैसे की कमी की वजह से एक लंबे समय तक अपने खुद के विकल्प के लिए इंतजार करना पड़ता है। ऐसे में भारत में यूज गाड़ियों को खरीदना का चलन तेजी से बढ़ चुका है।
यदि आप अपनी कार बेचते हैं तो खरीदार के नाम पर वाहन का होना अनिवार्य होता है, जिसे आमतौर पर आरसी ट्रांसफर कहा जाता है। इस प्रक्रिया से वाहन मालिक पूरी तरह से कार का मालिक बन जाता है और सभी तरह की कानूनी कार्यवाही से भी बच जाता है।
Loading...
आपको बता दें कि इसके लिए आपको अपने क्षेत्र से संबंधित परिवहन कार्यालय यानी कि आरटी ऑफिस जाना होता है। ऐसे में हम आपको इस जानकारी को देने वाले हैं कि आप पुरानी गाड़ी खरीदने पर किस प्रकार उस वाहन के कागजों को अपने नाम पर करा सकते हैं और ऐसा करने पर आपको किन किन बातों का ध्यान रखना आवश्यक है।
आपको बता दें कि ट्रांसफर कराने के प्रोसेस में आपको क्या-क्या करना पड़ेगा। इसकी जानकारी हम आपको देने जा रहे हैं। किसी भी कार को बेचने के लिए 14 दिन के बाद उसकी आरसी ट्रांसफर करना अनिवार्य होता है। इसके लिए आपको अपने क्षेत्र के आरटी ऑफिस जाना होगा जिसमें कुछ कागजों के साथ आपको आवेदन की प्रक्रिया को पूरा करना होगा।
इन कागजों में आरसी की ओरिजिनल कॉपी होना अति आवश्यक है। इसके साथ ही आपको फॉर्म 29 भरना होगा, जिसमें खरीदने वाले का पासपोर्ट साइज फोटो और खरीदार के साइन होना आवश्यक है। इस फोन को आप आरटीओ की आधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड भी कर सकते हैं।
यहां यह प्रक्रिया खत्म नहीं होती है। इसके बाद आपको दूसरे नंबर पर आपको फॉर्म 30 भरना होगा। इस फोन पर खरीदने और बेचने वाले दोनों के साइन होते हैं। इस फॉर्म पर दोनों के पासपोर्ट साइज फोटो भी लगाना आवश्यक है। इसके बाद आपको एक नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट शन देना होगा वैसे तो राज्य के भीतर ही एक शहर से दूसरे शहर के वाहन को ट्रांसफर किया जा सकता है। इस फॉर्म की आवश्यकता ऐसी स्थिति में नहीं होती है। लेकिन महाराष्ट्र जैसे कुछ राज्य ऐसे हैं जहां सरकार ने इसे अनिवार्य किया हुआ है।
इसलिए जब वाहन को एक राज्य से दूसरे राज्य में ट्रांसफर किया जाता है तो फॉर्म 28 का उपयोग करना भी आवश्यक होता है।
इस प्रक्रिया के लिए जरूरी दस्तावेजों की बात की जाए तो आपको अपने एड्रेस प्रूफ जैसे आधार कार्ड, पासपोर्ट, फोन का बिल, राशन कार्ड आदि का प्रयोग करना होगा।
इसके साथ-साथ आपको वैलिड इंश्योरेंस मान्य पॉल्यूशन सर्टिफिकेट की भी आवश्यकता होगी। इन कागजात के अलावा आपको आर्थिक को ट्रांसफर कराने के लिए थोड़ी सी भी भरनी होती है जो आम तौर पर 300 रुपये होती है।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.