Loading...

EPFO: सब्सक्राइब कर देते हैं ये गलतियां, जिनसे बंद हो जाता है आपका PF खाता..

0 2
नौकरी पैसे वाले व्यक्ति के लिए अपना ईपीएस आता काशी जरूरी होता है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन अपने सब्सक्राइब के लिए कई सुविधाएं प्रदान करता है। वहीं कर्मचारी भविष्य निधि संगठन में कई तरह के नियम भी देखने को मिलते हैं। पैसा निकालने से पैसा ट्रांसफर कराने के लिए अलग नियम है।

यहां तक की यदि आप अपने खाते से जुड़ी जानकारी के लिए भी अलग नियम को मानना होगा। नियम को समझना आपके लिए बेहद जरूरी होगा, क्योंकि इन नियमों का जानना अपना खाता सुचारू रूप से चलाने के लिए आपके लिए बेहद आवश्यक है। नियमों की बात की जाए तो ईपीएफ खाते से जुड़े कई प्रकार के अलग-अलग नियम होते हैं, जिनके अभाव में आपका पैसा फंस सकता है।
ईपीएफ में एक ऐसा नियम भी जारी होता है, जिसके अनुसार आपका पीएफ खाता खुद-ब-खुद बंद हो जाता है। हमारी इस बात पर आपको विश्वास नहीं हो रहा होगा, लेकिन यह बात पूरी तरह सच है कि ईपीएफ में यह नियम भी लागू होता है। आइए जानते हैं इस नियम के बारे में पूर्णता-
Loading...
यदि बात की जाए सबसे पहले नियम कि जिससे आपका खाता बंद हो जाता है तो आपको बता दें कि यदि आप की पुरानी कंपनी बंद हो जाती है और आपने अपना पैसा नई कंपनी के खाते में ट्रांसफर नहीं किया है या फिर अकाउंट में 36 महीनों तक कोई ट्रांजैक्शन नहीं हुआ है तो नियमों के अनुसार उस खाते को बंद कर दिया जाता है।
ईपीएफओ ऐसे खातों को निष्क्रिय कैटेगरी में पहुंचा देता है निष्क्रिय होने पर अकाउंट से पैसा निकालने में भी आपको बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। इसके लिए अकाउंट को एक्टिव रखने के लिए ईपीएफओ में संपर्क करना अति आवश्यक है। यह बात अलग है कि आपके निष्क्रिय पड़े खाते में भी पैसों पर ब्याज मिलता रहता है।

 

आपको बता दें कि ईपीएफओ ने अपने एक सर्कुलर मैं इस नियम को लेकर कुछ नए पॉइंट भी जारी किए थे ईपीएफओ के अनुसार निष्क्रिय खातों से जुड़े क्लेम को निपटाने के लिए सावधानी रखना अति आवश्यक है। इस बात का पूरा ध्यान रखा चाहिए जाना चाहिए, कि खाते से संबंधित किसी प्रकार की धोखाधड़ी जोकिंग कम हो और सही दावेदारों को ही उनका क्लेम प्राप्त हो सके।

 

अगर बात की जाए खाते के निष्क्रिय होने की तो निष्क्रिय खाते ऐसे प्रोविडेंट फंड खातों को कहा जाता है, जिनमें 36 महीनों तक किसी प्रकार का लेनदेन नहीं किया गया हो। ईपीएफओ ने ऐसे खातों को निष्क्रिय कर दी गई में डालने के लिए नियम जारी कर दिए थे।ठ पहले निष्क्रिय पड़े खातों पर ब्याज नहीं दिया जाता था, लेकिन साल 2016 में नियमों में संशोधन किया गया था और अब इन खातों पर ब्याज दिया जाता है।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.