Loading...

आज तक नहीं सुलझी इस चक्र की गुत्थी, 4000 साल पुराना है राजमयी चक्र

0 3

कभी-कभी खोजबीन के दौरान वैज्ञानिकों को कई सारी ऐसी चीजें मिल जाती हैं। जिनके रहस्य सुलझाना बेहद टेढ़ी खीर होती है। आज से 112 साल पहले कुछ ऐसा ही हुआ था। एक प्राचीन महल के अंदर खुदाई के दौरान भग्नावशेष की खुदाई के दौरान पुरातत्ववेत्ताओं को एक रहस्य चक्र मिला। जिसने सभी को हैरान कर दिया। उस चक्र पर कुछ ऐसे अभिलेख लिखे हुए हैं। जिसे पढ़ने में आज तक कोई भी सफल नहीं हो पाया है। या फिर यूं कह लीजिए कि दुनिया के वैज्ञानिक इसे डिकोड करने में भी फेल हो गए हैं।

इस रहस्यमय चक्र को ‘फैसटॉस डिस्क’ के नाम से जाना जाता है। क्योंकि यह कक्रीट टापू के फैसटॉस नामक जगह पर मिला था। इस डिस्क कि जब कार्बन डेटिंग की गई तो पता लगा कि इसे ईसा पूर्व दूसरी शताब्दी से पहले बनवाया गया था। यह डिस्क तपाई हुई सख्त मिट्टी से बना हुआ है।

यूनानी सभ्यता में रुचि रखने वाले इटालियन पुरातत्व वेदा नए साल 1960 में इसकी खोज की थी। दरअसल वह और उनकी टीम मैनुअल सभ्यता के उस राज महल की खुदाई का काम कर रही थी। जो प्राचीन काल में आए किसी भूकंप या फिर ज्वालामुखीय विस्फोट से धराशायी हो गया था। और धरती के अंदर समा गया था महल की दीवारों को जब तोड़ा गया तो अंदर एक बड़ा सा कमरा दिखाई दिया। जहां चीजें इधर-उधर बिखरी हुई पड़ी थी।

तभी वैज्ञानिक उस कमरे में घुसे और उनकी नजर एक गोल डिस्क पर जाकर टिक गई। उन्होंने इस चक्र को को उठाया और देखा उस पर चित्र लिपि से कुछ ना समझ आने वाली चीजें लिखी हुई है। और इस पर क्या लिखा हुआ है या आज तक रहस्य बना हुआ।

Loading...

हालांकि सबसे हैरान कर देने वाली बात यह है कि 15 सेंटीमीटर व्यास वाली डिस्क के दोनों तरफ सर्पिलाकार खांचे बने हैं, जिसमें अनसुलझी चित्र लिपि लिखी हुई है। अब इसमें सोचने वाली बात यह है कि इस तरह के स्वरूप मिनोअल काल की अन्य रचनाओं में से मेल नहीं खाते। इस विषय में कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि यह चक्र एक जाला साजी धोखा है। हालांकि कुछ लोग इससे सहमत भी हैं और कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इस बात से सहमत नहीं है

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.