Loading...

Digital Payment दो बार कर चुके हैं पैसे या फिर फेल हो गया है ट्रांजैक्शन तो अब घबराने की नहीं होगी ज़रूरत, ये है समाधान..

0 28
जैसा भारत में तेजी से डिजिटलाइजेशन बढ़ता जा रहा है। भारत में 2016 में हुई नोटबंदी के बाद डिजिटल पेमेंट में काफी तेजी देखी गई है। छोटे शहरों से लेकर बड़े शहरों तक लोग ज्यादातर डिजिटल पेमेंट करना उचित समझते हैं। भारत को कैश बेस्ड इकोनामी से कैशलैस इकोनामी बदलता जा रहा है। ऐसे में कई बार ऐसा देखा जाता है कि हमारे खाते से दो बार पैसे कट जाते हैं या फिर ट्रांजैक्शन फेल हो जाता है ऐसे में आप क्या करेंगे। यदि आपको नहीं मालूम तो आज हम आपको बताएंगे ऐसी स्थिति में आपको क्या करना चाहिए।
सबसे पहले तो बात करेंगे दो बार आपके खाते से पैसे कटने की स्थिति में आपको क्या करना चाहिए। डिजिटल पेमेंट करते हुए कभी-कभी एक ही ट्रांजैक्शन के लिए दो बार पैसे कट जाते हैं या फिर ट्रांजैक्शन फेल हो जाता है तो आप दोबारा पेमेंट का ऑप्शन चलते हैं। जबकि पहली बार में ही पैसा कट चुका होता है। ऐसी समस्या के लिए बैंक दूसरे पेमेंट का कोई ट्रैफर्ड जारी कर देती है। कई बार पैसा अपने आप वापस आ जाता है तो ग्राहक को कस्टमर केयर पर शिकायत या सूचना डालनी होती है कि उसे उसके पैसे पुनः प्राप्त हो चुके हैं।
बहुत बार ऐसा भी होता है कि ग्राहक अपने एटीएम कार्ड को एडीएम या पोस मशीन में डालता है तो वह उसे रीड नहीं करता है। इसकी वजह यह होती है कि डेबिट या क्रेडिट कार्ड पर मौजूदा ईवीएम चिप काम नहीं कर रही होती है। जिसके बदले स्वाइप का विकल्प चुना जा सकता है।
Loading...
 कई बार ऐसा भी देखा जाता है कि ग्राहक का डेबिट और क्रेडिट कार्ड स्वीकार नहीं किया जाता। वह इस वजह से होता है कि डेबिट क्रेडिट कार्ड ऐसे होते हैं जो केवल कुछ ही टर्मिनल्स पर काम करते हैं। जिन ग्राहकों को यह नहीं पता होता कि उनका कार्ड हर टर्मिनल पर एक्सेप्ट नहीं होगा। उन्हें इस मुश्किल का सामना करना पड़ता है। इसलिए आपको अपने कार्ड की पूरी जानकारी होना काफी जरूरी है।
 कई बार इस तरह की दुविधा भी सामने आती है कि आपका ईएमआई ट्रांजैक्शन फेल हो जाता है। यह में ट्रांजैक्शन करते समय कभी-कभी ट्रांजैक्शन सफल नहीं होते। ऐसे में अमाउंट तो कट जाता है लेकिन वह ईएमआई में कन्वर्ट नहीं होता। यदि आपके साथ भी ऐसा हुआ है तो आपको ईश्वर को संपर्क करना चाहिए। ऐसा करने पर ट्रांजैक्शन को यह माई में कन्वर्ट कर देते हैं।
कई बार ऐसी स्थिति थी गुजरात के सामने आती है कि किसी कारणवश उसे गलत अमाउंट भर जाता है। जैसे डिजिटल पेमेंट करते समय गलत अमाउंट हो जाने पर उसे परेशानी का सामना करना पड़ता है। यदि ऐसा आपके साथ हुआ है तो उससे संपर्क कर पुराने ट्रांजैक्शन को रद्द करके नया ट्रांजैक्शन किया जा सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि डिजिटल ट्रांजैक्शन या तो बैंक अमाउंट जाता है तो ऐसे में वे पूरी तरह सुरक्षित होता है।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.