Loading...

LIC: 100 रुपये से करें इस योजना में निवेश और पाएं जीवन भर बीमा का, जानें इसके अन्य फायदे..

0 24
LIC एक ऐसा नाम जो कि एक लंबे समय से भारत के लोगों का विश्वास पात्र बना हुआ है। एलआईसी अपने ग्राहकों के लिए समय-समय पर ऐसी योजनाएं लेकर आता है, जिसे उनका ग्राहक आज ही नहीं अपने कल को काफी सुरक्षित होना पड़ता है। एलआईसी में आपको अपनी सहूलियत के हिसाब से कई पॉलिसियों मिल जाएंगी प्रेरणा द्वारा एलआईसी में कई ऐसे बीमा योजना का निर्माण किया गया है जो कि हर उम्र वर्ग के लोगों को ध्यान में रखते हुए बनाए जाते हैं।
आज हम आपको एलआईसी की कोई ऐसी पॉलिसी खरीदने के लिए जानकारी देने जा रहे हैं। जिससे आपको कई फायदे पहुंचने वाले हैं। एलआईसी आम आदमी बीमा योजना के नाम से एक सामाजिक सुरक्षा की पॉलिसी स्वचालित करता है। यह योजना एक असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के लिए शुरू की गई है। आम आदमी बीमा योजना बीमा निगम द्वारा प्रकाशित की गई है।
भारत सरकार के वित्त मंत्रालय द्वारा लागू किया गया है। इस योजना के अंतर्गत इंश्योरेंस कवरेज के साथ साथ भूमि इन ग्रामीण परिवार के मुखिया को आंशिक व स्थाई रूप से विकलांग था पर या फिर परिवार का एक लब्धि कमाई करने वाली सदस्य के रूप में कवरेज दिया जाता है।
Loading...
इन लोगों के लिए है यह पॉलिसी
आपको बतादें कि इस बीमा योजना के लिए आवेदक की न्यूनतम उम्र 18 वर्ष और अधिकतम उम्र 59 साल तय की गई है। वहीं आवेदक परिवार का मुखिया होना चाहिए या फिर परिवार का अकेला कमाने वाला व्यक्ति या फिर गरीबी रेखा से नीचे आने वाला या तो गरीबी रेखा से ऊपर केवल सदस्य जो शहर में रहते हैं,  लेकिन उन्हें शहरी क्षेत्र का पहचान पत्र नहीं मिला है। इतना ही नहीं, इसमें ग्रामीण भूमिहीन व्यक्ति होना चाहिए।
एलआईसी द्वारा बताया गया कि आम आदमी बीमा योजना से जुड़ने वाला आवेदक को कुछ जरूरी दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी। इन जरूरी दस्तावेजों में जन्म प्रमाण पत्र, विद्यालय प्रमाण पत्र के साक्ष्य, वोटर आईडी, राशन कार्ड, सरकारी विभाग द्वारा प्रदान किया गया पहचान पत्र और आधार कार्ड।
इस विवाह से पहुंचने वाले लाभ की बात की जाए तो एलआईसी की वेबसाइट द्वारा यह बताया गया कि आम आदमी बीमा योजना के तहत बीमा सुरक्षा की अवधि के दौरान सदस्य कि यदि प्राकृतिक रूप से मृत्यु हो जाती है।
 तो ऐसे में लागू बीमा के अंतर्गत दिमाग राशि 30,000 रुपए बीमा धारक पॉलिसी के हिसाब से नॉमिनी को यह रकम दे दी जाती है। यदि पंजीकृत व्यक्ति की मृत्यु एक्सीडेंट या किसी विकलांगता के कारण होती है तो ऐसे में नॉमिनी को 75 हजार रुपए मुहैया करा दी जाती है। यदि आंशिक विकलांगता के मामले में पॉलिसी धारक को या फिर उसकी पॉलिसी में नाम अंकित नॉमिनी को 37,500 रुपए की राशि पुख्ता करा दी जाती है। इस पॉलिसी के हिसाब से स्कॉलरशिप लाभ दे दिया जाता है।
जिसके अंतर्गत इस बीमा योजना में 9वीं से 12वीं कक्षा के बीच पड़ने वाले अधिकतम दो बच्चों को 100 रुपए से स्कॉलरशिप दी जाती है। जिसका भुगतान अर्धवार्षिक रूप से किया जाता है। यानी कि बच्चा सौ रुपए की राशि प्राप्त होती है।
इस पाॅलिसी में पॉलिसी धारक को प्रीमियम के तौर पर 200 रुपए वित्तीय साल मैं प्रीमियम के तौर पर भरना होता है। वहीं जिसमें सुरक्षा निधि के 50% राज्य सरकार या संघ क्षेत्र द्वारा दहन किया जाता है।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.