Loading...

चोरी हो गई हुई कार या बाइक? तो इस तरह करें आसानी से बीमा क्लेम, जानें पूरा प्रोसेस..

0 8
यह तो आप सभी जानते होंगे कि कोई भी नया विकल्प लेने के बाद आप इंश्योरेंस कराते हैं। इंश्योरेंस आपके तब काम आता है। जब आपकी व्हीकल में किसी प्रकार की दुर्घटना होती है या फिर वह विकल चोरी हो जाता है। आज हम आपको व्हीकल इंश्योरेंस के लिए क्लीन करने पर जरूरी बातों के बारे में बताने वाले हैं। जिसकी सही ढंग से करने पर आपको आपके चोरी हुए वाहन बाय किया कार का इंश्योरेंस क्लेम प्राप्त हो सकता है।
जब भी आपकी बाइक या कार चोरी होती है तो पांच ऐसे काम है जो आपको करने के लिए देरी नहीं करनी चाहिए। सबसे पहले तो आपको तुरंत अपनी व्हीकल चोरी होने का f.i.r. करना चाहिए, जिससे आगे की प्रक्रिया के लिए यह एफ आई आर आपके लिए काफी महत्वपूर्ण दस्तावेज बन जाती है।
दूसरा काम होता है अपने क्लेम फॉर्म को भरना। पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद बीमा धारक को तुरंत अपने इंश्योरेंस कंपनी के कस्टमर सर्विस सेंटर पर कॉल करना चाहिए और क्लेम फॉर्म को भरना चाहिए। इसमें आपको अपने वाहन की सभी जानकारी और पॉलिसी नंबर भरना होता है।
अपने व्हीकल इंश्योरेंस के लिए क्लेम करते समय आपके पास कुछ जरूरी दस्तावेज होना अति आवश्यक होता है। क्लेम फॉर्म भरने के लिए वाहन का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, ड्राइविंग लाइसेंस, पॉलिसी डॉक्यूमेंट, f.i.r. की कॉपी, आरटीओ की चोरी की जानकारी और आपके वाहन की दोनों चाबियां आपके पास मौजूद होनी चाहिए।
Loading...
इन सूरतों में रुक जाता है आपका व्हीकल इंश्योरेंस क्लेम
व्हीकल इंश्योरेंस लेने के बावजूद कंपनियां हमें कई बार क्लेम देने से पूरी तरह इनकार कर देती हैं। मना करने की वजह हमारी ओर से तो हमारी लापरवाही होती है। लेकिन अक्सर ऐसा देखा जाता है कि कार बाइक चोरी होने की स्थिति में हम इंश्योरेंस कंपनी के पास क्लेम के लिए जाते तो हैं, लेकिन हम से कार कि दोनों ओरिजिनल चाबियां मांगी जाती है। लेकिन जब हमारे पास एक चाबी होती है और दूसरी नहीं तो कंपनी क्लेम देने से पीछे हट जाती है। यदि आप भी चाहते हैं कि आपको हर साल में प्लेन मिले तो आपको अपने वाहन की दोनों चाबियां हमेशा संभाल कर रखने चाहिए।
इसी के चलते हम आपको ऐसी कई वजह बता सकते हैं जिनके चलते आपको क्लेम प्राप्त हो सकता है। एक्सपर्ट की मानें तो आपकी कार चोरी हो जाती है और आप क्लेम फाइल करने जाते हैं। उस दौरान इंश्योरेंस कंपनी को आप अपने दोनों चाबी देने में असमर्थ होते हैं, तो इसे आप की लापरवाही करार देते हुए क्लेम देने से मना किया जाता है। एक्सपर्ट की सुझाव के अनुसार पॉलिसी धारकों को अपनी कार चोरी होने की स्थिति में एफ आई आर दर्ज करानी चाहिए।
आपको शायद नहीं मालूम होगा, लेकिन आपको बता दें कि व्हीकल इंश्योरेंस में आपके नियंत्रण से बाहर की घटनाओं पर क्लेम दिया जाता है। इनमें बिजली, भूकंप, बाढ़, आंधी, तूफान, चक्रवात, भूस्खलन के साथ-साथ किसी के द्वारा किया गया नुकसान जैसे चोरी, दंगा, हड़ताल, आतंकवादी गतिविधि, सड़क, रेल या पानी के माध्यम से वाहन को पहुंची हानि पर कवर दिया जाता है। देश में लागू कानून के अनुसार, भारतीय सड़कों पर चलने वाले सभी वाहनों के लिए मोटर थर्ड पार्टी बीमा पुख्ता कराती है।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.