Loading...

क्या आप जानते हैं नत्थी वीजा क्या होता है और इसे क्यों जारी किया जाता है

0 151

जब भी कोई नागरिक विदेश जाता है तो वीजा लेने की जरूरत पड़ती है. आव्रजन अधिकारी आपके पासपोर्ट पर एक स्टांप लगा देते हैं, जिससे यह पता चलता है कि आप किस उद्देश्य से उनके देश में जा रहे हैं. नत्थी वीजा में आव्रजन अधिकारी आपके पासपोर्ट पर स्टांप नहीं लगाता. बल्कि एक कागज अलग से आपके पासपोर्ट के साथ जोड़ देता है जिस पर आपके उस देश की यात्रा करने का कारण लिखा होता है. अधिकारी इसी कागज पर स्टांप लगाते हैं. इसे नत्थी वीजा कहते हैं.

यह वीजा कई देशों द्वारा जारी किया जाता है. चीन भारत के 2 राज्य अरुणाचल प्रदेश और जम्मू एंड कश्मीर के लोगों को नत्थी वीजा जारी करता है. भारत के अन्य राज्यों के लोगों पर यह नियम लागू नहीं होता, क्योंकि चीन अरुणाचल प्रदेश को तिब्बत का भाग मानता है और तिब्बत पर चीन का अधिकार है. इसी वजह से चीन अरुणाचल प्रदेश को अपने देश का हिस्सा मानता है. लेकिन वह अरुणाचल में रहने वाले लोगों को अपने देश का हिस्सा नहीं मानता .इसीलिए वहां के निवासियों के लिए नत्थी वीजा जारी करता है.

नत्थी वीजा जारी करने से क्या फर्क पड़ता है

जब भी कोई व्यक्ति किसी देश की यात्रा करके अपने देश वापस लौटना चाहता है तो उसको मिलने वाला नत्थी वीजा, प्रवेश और बाहर निकलने वाले टिकटों को फाड़ दिया जाता है. इस प्रकार यात्रा करने वाले व्यक्ति के पासपोर्ट पर यात्रा का कोई भी विवरण नहीं होता.

Loading...

एक देश किसी भी देश द्वारा जारी किए जाने वाले नत्थी वीजा का इसलिए विरोध करता है क्योंकि हो सकता है कि नत्थी वीजा पर बार बार विदेश यात्रा करने वाला नागरिक देश के खिलाफ आपराधिक गतिविधियों में शामिल हो. जबकि उसके पासपोर्ट पर इसका कोई रिकॉर्ड नहीं मिलता.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.