Loading...

रेलवे पुलिस को नहीं होता आपका टिकट चेक करने का कोई भी अधिकार, इन नियमों के बारे में क्या जानते हैं आप

0 23

भारतीय रेलवे ने पिछले कुछ समय मे काफी बदलाव किए हैं जिसके कारण यात्रियों को कई तरह की नई सुविधाओं का लाभ मिला है. दरअसल ट्रेन में यात्रियों का सफर आसान करने के लिए रेलवे लगातार कदम उठाता रहा है. साथ ही, कई ऐसे नियमों की जानकारी भी देता है जिन्हें जानकार यात्रा करना आसान होता है.

बता दें कि ऐसे ही एक नियम के बारे में हम आपको बता रहे हैं. दरअसल आपको बता दें कि आरपीएफ को चलती ट्रेन या फिर प्‍लेटफार्म पर टिकट चेक करने का अधिकार नहीं है. यह काम केवल टीटीई ही करेगा. इसके अलावा बेटिकट यात्रियों को जुर्माना करने की पावर सिर्फ अधिकृत टिकट चेकिंग स्‍टाफ को ही है.

मालूम हो कि आमतौर पर ट्रेनों में और प्‍लेटफार्म पर रेलवे पुलिस टिकट चेक करके भोले-भाले लोगों से उगाही करती है. जी हां, दरअसल ट्रेनों की जनरल बोगी में यह आए दिन का खेल है. जमकर उगाही चलती है और रेलवे प्रशासन उनका कुछ नहीं कर पाता. इस संबंध में नियम क्या कहते हैं, चलिए जानते हैं..

जानिए कौन कर सकता हैं टिकट चेक

Loading...

आपको बता दें कि आपकी यात्रा के दौरान ट्रैवल टिकट एग्जामिनर यानी कि TTE ही आपकी टिकट जांच सकता है. इसके अलावा रेलवे की ओर से जारी नियम बताते हैं कि रात 10 बजे के बाद TTE भी आपको डिस्टर्ब नहीं कर सकता है.

मालूम हो कि टीटीई को सुबह 6 से रात 10 बजे के बीच ही टिकटों का वेरिफिकेशन करना जरूरी है. इसके अलावा रात में सोने के बाद किसी भी पैसेंजर को डिस्टर्ब नहीं किया जा सकता. बता दें कि यह गाइडलाइन रेलवे बोर्ड की है. हालांकि, यहां एक बात बता दें कि रात को 10 बजे के बाद यात्रा शुरू करने वाले यात्रियों पर यह नियम लागू नहीं होता.

यहां आप कर सकते हैं शिकायत

जानकारी के लिए लिए बता दें कि अगर आपके पास टिकट नहीं है या फिर उसमें कोई दिक्‍कत है तो टीटीई से ही बात करें. जी हां, दरअसल आपको बता दें कि इसमें आरपीएफ वाला कुछ नहीं करेगा. हालांकि अगर फिर भी कोई पुलिसकर्मी अगर आपका टिकट चेक करने की जिद करे या धमकाए तो उसके वरिष्ठ अधिकारी से इसकी शिकायत कर सकते हैं.

आपको बता दें कि भारतीय रेलवे ने करप्शन खत्म करने के लिए बाकायदा एक नंबर जारी किया हुआ है. दरअसल रेलवे यूजर 155210 पर फोन करके अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं. मालूम हो कि यहां आप इंडियन रेलवे से जुड़ी किसी भी सर्विस के लिए 24 घंटे शिकायत कर सकते हैं और सलाह दे सकते हैं.

मालूम हो कि आप रेलवे के द्वारा जारी किए एसएमएस नंबर 9717630982 पर भी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

यही नहीं इसके अलावा गूगल प्ले स्टोर से इंडियन रेलवे का ऐप ‘इंडियन रेलवे सीओएमएस मोबाइल ऐप’ डाउनलोड करके भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

आपको बता दें कि शिकायतकर्ता सेंट्रलाइज्ड पब्लिक ग्रेविएंस रिड्रेस एंड मॉनिटरिंग सिस्टम की वेबसाइट पर जाकर भी कंप्लेंट दर्ज करा सकते हैं.

दरअसल यहां पर शिकायत करने पर आपको कंप्लेंट नंबर भी मिलेगा. बता दें कि इस नंबर के जरिए आप अपनी शिकायत पर की गई कार्रवाई को ट्रैक कर सकते हैं.

मालूम हो कि शिकायतकर्ता रेलवे के ट्विटर पेज twitter@RailMinIndia और फेसबुक पेज facebook.com/RailMinIndia पर भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

हो सकती हैं सख्त कार्रवाई

मालूम हो कि रेलवे सिक्‍योरिटी से जुड़े एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने एक निजी न्यूज चैनल को बताया है कि अगर कोई पुलिसकर्मी टिकट चेकिंग या जुर्माना वसूलते पाया जाता है तो उसके खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की जाएगी.

दरअसल ऐसा इसलिए भी क्योंकि टिकट चेक करने का अधिकार रेलवे पुलिस को कभी नहीं था. हालांकि अगर यदि कोई वर्दीवाला टिकट चेक करता है तो वह गलत है. इसे बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा.

आपको बता दें कि अगर रेलवे के बड़े अधिकारियों को अगर अवैध टिकट चेकिंग की जानकारी मिलती है तो वे आरोपी पर सस्‍पेंड करने तक की कार्रवाई कर देते हैं. जी हां, यही कारण है कि आप अपने अधिकारों को लेकर सचेत रहिए.

दरअसल एक रेलवे अधिकारी ने बताया कि मजिस्‍ट्रेट छापे जैसी कार्रवाई के दौरान ही रेलवे पुलिस सिर्फ टिकट चेक करने में सहायता कर सकती है. वरना इसके लिए सिर्फ कॅमर्शियल स्‍टाफ अधिकृत है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.