Loading...

यहां पर दहेज में गाड़ी, पैसा नहीं बल्कि दिया जाता है कुछ ऐसा, अगर नहीं दिया तो जिंदगीभर कुंवारी रहती है लड़की

0 182

हमारे देश में शादी के बाद दहेज की प्रथा तो अभी भी चल रही है और ऐसा लगता नहीं कि ये कभी बंद भी होगी. वैसे दहेज में आपने अभी तक घर-गृहस्थी का सामान देने के बारे में ही सुना होगा और देखा भी होगा लेक‍िन क्या आपने सुना है कि शादी के दहेज में जहरीले सांप भी द‍िए जाते हैं?

जाहिर है कि इसे सुनकर थोड़ी हैरानी होती है. लेकिन यह एकदम सत्य है. बता दें कि दहेज में एक या दो जहरीले सांप नहीं बल्क‍ि पूरे 21 सांप दहेज में यहां दिए जाते हैं. जब तक लड़की वाले सांप की व्यवस्था नहीं कर लेते, लड़की कुंवारी ही रहती है.

दरअसल शादी की ये अनोखी प्रथा छत्तीसगढ़ के महासमुंद ज‍िले में तुमगांव की बस्‍ती में रहने वाले सपेरा जाति के लोगों निभाते हैं. इनमें ऐसा माना जाता है कि अगर लड़की के घर वाले 21 प्रजाति‍यों के जहरीले सांप नहीं दे पाते तो इस कुनबे की लड़किया कुंवारी ही रह जाती हैं.

Loading...

दरअसल ऐसा इसलिए है क्योंकि सपेरा जाति के लोगों के लि‍ये रोजगार से लेकर कुल जमापूंजी भी यही जहरीले सांप हैं. इन्‍हीं जहरीले सांपों को दिखाकर जो पैसा इन्‍हें मि‍लता है उससे इनके परि‍वार का भरण पोषण होता है.

यही वजह है क‍ि यहां के दूधमुंहे बच्‍चे भी इन जहरीले सांपों से कुछ ऐसे घुले-मि‍ले हैं, मानो जैसे ये जहरीले सांप भी इनके परि‍वार के सदस्‍य हों.

बता दें कि यहां रहने वाले शख्स कैलाश को दुल्हन के लिये दो साल इंतजार भी करना पड़ा था. दरअसल इसके पीछे की वजह थी कि दुल्हन पक्ष के पास दहेज में देने के लिए 21 जहरीले सांप नहीं थे।

दरअसल कैलाश ने बताया क‍ि दहेज में मिले कुछ सांपों को लड़के वाले अपने पास रखते हैं, बाकी सांप को धन समझकर परिवार के लोगों को बांट देते हैं.

जानकारी के लिए बता दें कि इनकी जाति में सांपो को सुरक्षित रखने के लिए कड़ा नियम भी है. अगर सांप इनके पिटारे में मर जाता है तो पूरे परिवार के लोगों को मुंडन कराना पड़ता है. साथ ही कुनबे के सभी लोगों को भोज करना पड़ता है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.