Loading...

यहां पर निभाई जाती है बड़ी ही अनोखी प्रथा, बेटी ही बन जाती है अपनी मां की सौतन

0 296

दुनिया में कई अजीबो गरीब परंपराएं सुनने को मिलती हैं जिसे सुनकर हम हैरान हो जाते हैं। एक एेसी ही परंपरा के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे है जोकि शादी से संबंधित है। जी हां, दरअसल यह तो हम सभी जानते हैं कि शादी को लेकर हर जगह-जगह अपनी मान्यताएं है। भारत में ही शादी को लेकर कई तरह के रीति-रिवाज हैं। लेकिन आज हम आपको जिस रिवाज के बारे में बताने जा रहे हैं, उसके बार में जानकर आप आश्चर्यचकित रह जाएगें।

जी हाँ, दरअसल बांगलादेश की एक जन्जाई में एक अजीब परंपरा के चलते बेटी ही माँ की सौतन बन जाती है। जी हां, चलिए जानते हैं इस परंपरा के बारे में।

दरअसल बांग्लादेश के मंडी जन जाति में यह अजीबोगरीब परंपरा है। यहां रहने वाली ३० वर्ष की ओरोला के पिता की मृत्यु तब हो गयी थी जब वह बहुत ही छोटी थी। ओरोला इतनी छोटी थी कि उनकी मां ने दूसरी शादी कर ली।

ओरोला के मुताबिक दूसरे पिता का नाम नॉटेन था। वह नॉटेन को वह बहुत पसंद करती थी और अक्सर यही सोचती थी उसकी मां कितनी किस्मत वाली है कि नॉटेन जैसा पति मिला।

Loading...

लेकिन जब ओरोला किशोरावस्था में पहुंची तब उसे पता चला कि उसके दूसरे पिता नॉटेन ही उसके पति हैं। जाहिर है कि ये सुनते ही ओरोला दंग रह गई। जिस आदमी को पिता की तरह देखा वही पति होगा। दरअसल उसको बाद में पता चला कि 3 साल की उम्र में ही उसकी शादी पिता से करवा दी गई है।

दरअसल यह एक ऐसी प्रथा है जहां कम उम्र में विधवा हुई लड़कियों की शादी दूसरे व्यक्ति से करवा दी जाती है और जब वह महिला किसी बेटी को जन्म देती है तो उसकी शादी भी उसी व्यक्ति से करवाई जाती है।

जानकारों के मुताबिक ऐसा माना जाता है कि कम-उम्र का पति नई पत्नी और उसकी बेटी का भी पति बनकर दोनों की सुरक्षा एक लंबे वक्त तक कर सकता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.