Loading...

एक कुंवारी मां का ऐसा दरिंदा बेटा जिसके कहने पर लोग कर देते थे कत्ल, अपने आपको को कहता था भगवान

0 620

दुनिया में एक ऐसा खूंखार अपराधी था जो खुद को भगवान बताता था. चार्ल्स मैन्सन नाम के इस अपराधी ने एक ऐसी अलौकिक शक्ति थी कि हजारों लोग इस के कहने पर किसी की भी हत्या करने को तैयार रहते थे. आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन यह शख्स एक कुंवारी मां का बेटा था. आइए जानते हैं इस अपराधी के बारे में……

खबरों से पता चला है कि इसकी मां ने 16 साल की उम्र में इस कुंवारेपन में ही जन्म दिया था और इस से बिछड़ गई थी. 13 साल की उम्र में ही चार्ल्स खूंखार अपराधी बन गया था, जिस कारण जल्द ही कोर्ट ने इसे फांसी की सजा सुनाई. इस अपराधी की किस्मत अच्छी होने के कारण मौत की सजा पर रोक लग गई और इसकी सजा उम्रकैद में बदल गई. आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन 13 साल की उम्र में ही इसने एक ग्रोसरी स्टोरी और कसीनो में लूटपाट की थी. यह शख्स 10 सालों तक अपराधों में लिप्त रहा जिस कारण इसको कई बार जेल की हवा भी खानी पड़ी. महज 16 साल की उम्र में ही यह असामाजिक तत्व का रूप पा चुका था.

बताने लगा खुद को भगवान

1958 में जब पैराल पर मेंसन रिहा किया गया तो उसने एक बार फिर से वेश्याओं की दलाली वाला अपराध शुरू कर दिया. रिहाई के 2 साल बाद ही इसे फिर गिरफ्तार किया गया, लेकिन ये जल्द ही जेल से बाहर आ गया. 1960 में हुई गिरफ्तारी से छूटने के बाद इसने सरकारी चेक में धोखाधड़ी की, जिस कारण इसे 10 साल की सजा सुनाई गई. इस सजा में उसने जेल में रहते हुए यह अफवाह फैला दी कि उसके भीतर एक अलौकिक शक्ति आ गई है और वह भगवान बन गया है. 21 मार्च 1967 को जब मेंशन की रिहाई का दिन आया तो उसने अफसरों से एक ऐसी गुजारिश की जो संभव नहीं थी. इस शख्स की इच्छा थी कि उसे जेल में ही रहने दें.

Loading...

इस शख्स ने 1967 में मेंशन फैमिली बनाकर एक अलग ही संप्रदाय बना दिया. यह इस तरह की चाल बाजी करता कि लोग इसके वश में आ जाते हैं. अपना नया संप्रदाय बनाकर लॉस एंजिल्स में इसने पॉप म्यूजिक बनाने की कोशिश भी की थी. लोगों के दिमाग पर इसका असर इस कदर था कि मेंशन के एक इशारे पर लोग किसी का कत्ल भी कर देते थे. इसी चीज का फायदा उठाते हुए उसने एक बार स्वेतो के खिलाफ अस्वेतो में हिंसा भी भड़काई थी.

संबंध बनाने के लिए भी लोग लेते थे आज्ञा

इस अपराधी ने सैन फ्रांसिस्को के एक कस्बे में कब्जा करके चार्ल्स मेंसन में सैकड़ों लोगों को जोड़ दिया. यहां पर उसने एक नई प्रथा बनाए जिसके मुताबिक कोई भी शख्स मेंशन की किसी भी महिला से प्यार कर सकता था, हालांकि संबंध बनाने के लिए उसे चार्ल्स की इजाजत लेनी पड़ती थी. इस प्रथा को चार्ल्स ने ‘फ्री लव’ नाम दिया था. हैरानी वाली बात तो यह थी कि यह खुद को ईश्वर का प्रतिनिधि बताकर महिलाओं के साथ शारीरिक संबंध बनाता. महिलाएं खुद इसके सामने शारीरिक संबंध बनाने के लिए समर्पित हो जाती है. जो महिला इसको मना करती उसको यह अपने लोगों के हाथों मरवा देता.

श्वेत-अश्वेतों की जातिगत हिंसा फैलाई

इस शख्स के अपराध का सिलसिला यहीं नहीं थमा. 1969 में एक बार इस ने भविष्यवाणी करते हुए बताया कि जल्द ही श्वेत लोग अश्वेतों के खिलाफ बगावत करने वाले हैं, और इसमें कई लोग मारे जाएंगे. अपनी इस भविष्यवाणी को सच करने के लिए चार्ल्स ने अपने लोगों के द्वारा कई अश्वेतों की हत्या करवा दी थी.

पुलिस के हत्थे चढ़ा मेन्सन

अपने अपराधों की लिस्ट में जब उसने अमेरिका की एक जानी-मानी अभिनेत्री की हत्या कर दी तो इसकी काली करतूतों का पर्दा उठ गया. 1970 में लगे इस आरोप के बाद 29 मार्च को इस को फांसी की सजा सुनाई गई. हालांकि मेंशन को फांसी न होकर उम्र की सजा दी गई लेकिन उसने जेल में भी कई लोग को अपने इशारे पर नाचवाकर अपराध करवाये.

1 साल में 60 हजार खतों की सच्चाई

यह अपराधिक दुनिया के सबसे खूंखार अपराधियों की लिस्ट में शामिल था. आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन जेल में रहने पर भी इस के एक इशारे पर लोग बाहर हत्या कर देते थे. कहा जाता है कि इसे हर दिन सैकड़ों खत मिलते, जिनमें से ज्यादातर वो नौजवान होते जो इसके मेंशन में शामिल होने की इच्छा रखते थे. रिपोर्ट से पता चला है कि 1 साल में इसको 60000 से भी ज्यादा खत मिले थे. इस अपराधी की मौत 19 नवंबर 2017 को जेल में हो गई थी.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.