Loading...

तीसरे दिन का खेल खत्म, सीरीज वाइटवाश करने से सिर्फ 2 विकेट दूर टीम इंडिया

0 9

भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका के मध्य खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन का खेल खत्म हो चुका है। भारतीय टीम के गेंदबाजों का दबदबा इस मैच में भी कायम है और टीम ने एक बार फिर अफ्रीकी टीम को फॉलोऑन खेलने के लिए बुलाया।

फॉलोऑन खेलने उतरी अफ्रीकी टीम की भी हालत भारतीय गेंदबाजों ने खराब कर दी और अब टीम इंडिया रांची टेस्ट जीतने से केवल 2 विकेट दूर है। बता दें कि तीसरे व अंतिम टेस्ट के तीसरे दिन भारतीय गेंदबाजों की घातक गेंदबाजी के आगे मेहमान टीम के बल्लेबाज पस्त हो गए।

मालूम हो कि तीसरे दिन खेलने उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम लंच के बाद 162 रन पर ऑलआउट हो गई। दरअसल इसके बाद भारतीय कप्तान ने प्रोटियाज को फॉलोऑन के खेलने के लिए बुलाया।

बता दें कि फॉलोऑन खेलने उतरी दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज एक बार फिर से भारतीय गेंदबाजों के आगे घुटने टेकते नजर आए। दरअसल दिन का खेल खत्म हो जाने तक दक्षिण अफ्रीका का स्कोर 132/8 हैं। एनरिच नोर्तजे (5) और निस डिब्रून (30) रन बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं।

Loading...

मालूम हो कि उमेश यादव ने फॉलोऑन खेलने उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम को पहला झटका दिया और क्विंटन डिकॉक को क्लीन बोल्ड कर दिया। जी हां, दरअसल डिकॉक केवल 5 रन बनाकर आउट हुए। खास बात यह रही कि उमेश के बाद तुरंत ही शमी की शानदार गेंद ने हमजा की गिल्लियां उड़ा दी और मेहमान टीम को दूसरा झटका दे दिया।

दरअसल इसके बाद दक्षिण अफ्रीकी के विकेट गिरने का सिलसिला जारी रहा और शमी की धारधार गेंदबाजी के आगे उनका कोई भी टॉप बल्लेबाज टिक नहीं पाया। जी हां, दरअसल शमी ने पहले कप्तान डूप्लेसिस को एलबीडब्ल्यू आउट किया और उसके बाद टेम्बा बवुमा को साहा के हाथों कैच करवाकर मेहमान टीम को चौथा झटका दे दिया।

इसके बाद मेश यादव ने हेनरिक क्लासन को एलबीडब्ल्यू कर दिया। इसी के साथ 36 रन पर आधी अफ्रीकन टीम पवेलियन लौट गई। गेंद क्लासन के फ्रंट पैड पर लगी। इस पारी में वह सिर्फ 5 रन ही बना पाए।

आपको बता दें कि 2001-02 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फॉलोऑन खेलने के बाद ऐसा दूसरी बार है, जब दक्षिण अफ्रीकी टीम लगातार दूसरी बार एक ही सीरीज में फॉलोऑन खेल रही है।

पहली पारी में 166 पर सिमटी अफ्रीका

मालूम हो कि तीसरे टेस्ट के दूसरे दिन आखिरी सत्र में बल्लेबाजी के लिए आई मेहमान टीम को लगातार 2 झटके लगे। वहीं तीसरे दिन दक्षिण अफ्रीकी टीम ने 9/2 से आगे खेलना शुरू किया। उमेश यादव ने तीसरे दिन की 5वीं ही गेंद पर ही भारतीय टीम को बड़ी सफलता दिला दी। उमेश यादव की अंदर आती गेंद को डुप्लेसि समझ नहीं पाए और बोल्ड हाे गए।मेहमान कप्तान सिर्फ एक रन ही बना पाए।

इसके बाद पारी के 28वें ओवर में रवींद्र जडेजा की तीसरी गेंद पर भारत ने अपना रिव्यू गंवा दिया। हमजा के खिलाफ एलबीडब्ल्यू आउट की अपील की गई थी। हालांकि अगली ही गेंद पर जडेजा ने हमजा को बोल्ड करके बावूमा के साथ उनके बड़ी साझेदारी को भी तोड़ दिया।

दरअसल मिडिल और लेग के आस पास उनकी सीधी गेंद को हमजा समझ नहीं पाए और बोल्ड हो गए। हमाजा और बावूमा ने मिलकर 91 रन जोड़े।

उसके बाद लिंडे और नोर्जे ने कुछ समय तक साझेदारी करते हुए रनों में इजाफा किया लेकिन वे भी ज्यादा देर तक टिक नहीं पाए और पूरी टीम 166 रन पर ढेर हो गई।

नदीम को मिला पहला टेस्ट विकेट

अपने करियर का पहला टेस्ट खेल रहे शाहबाज नदीम ने भारत को पांचवीं सफलता दिलाई। 29वें ओवर की दूसरी ही गेंद पर नदीम ने टेंबा बावूमा को टेस्ट क्रिकेट का अपना पहला शिकार बनाया। नदीम की गेंद को बाहर निकलकर हिट करना चाहते थे बावूमा, लेकिन गेंद साहा के हाथों में चली गई। उन्होंने बिना समय गंवाए बेल्स उड़ा दी।

बता दें कि बावूमा 32 रन बनाकर पवेलियन लौटे। इसके बाद रवींद्र जडेजा ने भारत को एक और सफलता दिलाई और क्लासन को आउट किया।

वहीं मोहम्मद शमी ने लंच के तुरंत बाद भारत को दिलाई 7वीं सफलता दिलाई और डेल पीट को पवेलियन की राह पकड़ा दी। इसके अगले ही ओवर में उमेश यादव ने शॉर्ट मिडऑन से डायरेक्ट हीट मार कगिसो रबडा को रन आउट कर दिया।

इसके अलावा दक्षिण अफ्रीका का आखिरी विकेट नदीम के नाम रहा। 57वें ओवर की दूसरी गेंद पर नदीम ने एनरिच नॉर्तजे को एलबीडब्ल्यू आउट किया। हालांकि यहां पर नॉर्तजे को लग रहा था कि वे सुरक्षित हैं, इसीलिए उन्होंने रिव्यू लिया, लेकिन उनका फैसला गलत रहा। बता दें कि गेंद पर उनके बल्ले का अंदरुनी किनारा नहीं लगा था। नॉर्तजे 4 रन बनाकर पवेलियन लौटे।

दूसरे दिन कुछ यह रही स्थिति

बता दें कि बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में इंडियन टीम का जलवा दूसरे दिन बरकरार रहा। दरअसल रोहित शर्मा के टेस्ट क्रिकेट में पहले दोहरे शतक और अजिंक्य रहाणे की शतकीय पारी के बाद तेज गेंदबाजों की घातक गेंदबाजी के बूते भारतीय टीम ने तीसरे और आखिरी टेस्ट मैच में शिकंजा कस लिया है।

हालांकि खराब मौसम के कारण रांची टेस्ट का लगातार दूसरा दिन भी जल्द ही खत्म करना पड़ा। बता दें कि खेल जल्दी समाप्त किए जाने से पहले दक्षिण अफ्रीका का शीर्षक्रम लड़खड़ा गया था।

इसके बाद भारत ने अपनी पहली पारी 9 विकेट पर 497 रन पर समाप्त घोषित की। जवाब में दक्षिण अफ्रीका टीम 2 विकेट खोकर महज 9 रन ही बना पाई। उसके दोनों सलामी बल्लेबाजों को उमेश यादव और मोहम्मद शमी ने पवेलियन का रास्ता दिखाया।

मोहम्मद शमी ने अपनी दूसरी गेंद पर ही डीन एल्गर (शून्य) को विकेट के पीछे कैच करा दिया। उनकी अतिरिक्त उछाल लेती गेंद एल्गर के दस्तानों को चूमकर ऋधिमान साहा के सुरक्षित हाथों में पहुंची। उमेश यादव ने अगले ओवर में दूसरे सलामी बल्लेबाज क्विंटन डिकॉक (चार) को साहा के हाथों कैच कराया।

मालूम हो कि इसके बाद खराब रोशनी के कारण विराट कोहली को तेज गेंदबाज हटाने पड़े। दरअसल स्टंप उखड़ने के समय कप्तान फाफ डुप्लेसि एक रन पर खेल रहे थे जबकि जुबैर हमजा को अभी खाता खोलना है। आपको बता दें कि भारत की पहली पारी के आधार पर प्रोटियाज टीम अभी भी 488 रन पीछे है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.