Loading...

फेस्टिव सीजन में बढ़ जाती है आटे में मिलावट, असली या नकली आटे की ऐसे करें पहचान

0 11

अक्टूबर के महीने में एक के बारे त्यौहार आते ही जा रहे हैं और अच्छे से फेस्टिवल सीजन की शुरुआत भी हो चुकी है। इसके साथ ही जैसे ही फेस्टिवल सीजन आता है वैसे-वैसे मिलावट का दौर भी आना शुरू हो जाता है। फेस्टिव सीजन में हर चीज की डिमांड इतनी ज्यादा बढ़ जाती है कि ज्यादातर लोग मिलावट करना शुरू कर देते हैं पनीर मावा और जी मिलावट के मामले में तो सबसे आगे रहते हैं लेकिन जब इस बात को जानते हैं कि रोजाना जैसा टेको आप खाते हैं यानी कि जिसके आप रोटी बना कर खाते है। वह भी अच्छी खासी मिलावट से तैयार किया जाता है। आपको बता दें कि आटे में आजकल जमकर मिलावट की जाने लगी है। गेहूं के आटे में अक्सर बोरिक पाउडर पाउडर मिलाया जाता है। लेकिन आज हम आपको कुछ आसान तरीके बताएं आप आसानी से पता लगा सकते हैं कि आपका असली है या नकली।

आपके गेहूं के आटे के चोकर कम है तो भैया कांटा मिलावटी हो सकता है। इसकी जांच आसानी से कर सकते हैं इसके लिए आप एक गिलास पानी लीजिए और आधा चम्मच आटे को उस में डाल कर देखिए तो आपको कुछ करता हुआ दिखाई दे तो समझ जाइए कि इसमें मिलावट है।

इसके अलावा एक और तरीका है जिससे आप लैबोरेट्री टेस्ट भी कह सकते है। इसके लिए आप एक टेस्ट ट्यूब लीजिए और उस पर आटे के कुछ नमूने डालिए फिर इसमें हाइड्रोक्लोरिक एसिड डालें अगर इसमें कुछ खाने वाली चीज नजर आ जाए तो समझ जाइए कि इसमें चाक की मिलावट है।

एक चम्मच आटे में नीबू के रस की कुछ बूंदें डालिए। अगर ऐसा करने पर आटे में बुलबुले बने तो जान जाइए क्या आप का आटा मिलावटी वाला है। आपको बता दें कि खड़िया मिट्टी आमतौर में आटे पर मिलाया जाता है। इस पदार्थ में केमिकल और कैल्शियम कार्बोनेट पाया जाता है। इससे नींबू के संपर्क में आने से ही अपने आप ही बुलबुले छोड़ देता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.