Loading...

पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में करें निवेश, होगी बढ़िया इनकम

0 144

जब बात पैसे बचाने की आती है तो ज्यादातर लोग रोज के खर्च में से कुछ पैसे बचाकर घर के गुल्लक में या फिर सेविंग अकाउंट में डाल देते हैं लेकिन अगर इसे सही जगह निवेश किया जाए तो बता दें कि इससे बेहतर रिटर्न कमाया जा सकता है।

जी हां, दरअसल मंथली सेविंग पर अच्छे रिटर्न के लिए आप पोस्ट ऑफिस के रेकरिंग डिपॉजिट यानी कि आरडी को चुन सकते हैं। आपको बता दें कि पोस्ट ऑफिस का रेकरिंग डिपॉजिट 7.2 % का ब्याज दे रहा है।

मालूम हो कि आज के दौर में सैलरी क्लास और महिलाएं पोस्ट ऑफिस के मंथली सेविंग स्कीम यानी रेकरिंग डिपॉजिट का ऑप्शन ले सकते हैं, जहां अधिकतम रिटर्न मिल सकता है।

बता दें कि पोस्ट ऑफिस आरडी अकाउंट में ब्याज की दर सालाना मिली-जुली होती है। 5 साल के लिए रेकरिंग डिपॉजिट से जुड़ी 10 बातों पर यहां गौर करते हैं जो इसे शानदार निवेश विकल्प बनाती है।

Loading...

मालूम हो कि पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट अकाउंट कैश से या चेक के माध्यम से खोला जा सकता है। दरअसल भारतीय डाक के मुताबिक, चेक की स्थिति में डिपॉजिट राशि जमा होने की तरीख को ही चेक जमा होने की तारीख मानी जाती है।

बता दें कि रेकरिंग डिपॉजिट एक तरह से टर्म डिपॉजिट है। जी हां, दरअसल ये फिक्स्ड डिपॉजिट खाते से अलग है जिसमें एक तय राशि तय समय के लिए लॉक हो जाती है और तय रिटर्न मिलता है। बता दें कि इसमें नियमित अंतराल पर निवेशक पैसा जमा कर सकते हैं।

सबसे खास बात इस अकाउंट की ये है कि न्यूनतम 10 रुपये हर महीने जमाकर भी पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट अकाउंट खोल सकते हैं। वहीं इसमें अधिकतम कितना पैसा निवेश कर सकते हैं, इसकी कोई सीमा नहीं है। बता दें कि आप 5 और 10 के मल्टीपल में कोई भी राशि जमा कर सकते हैं।

आपको बता दें कि पोस्ट ऑफिस के पांच साल के आरडी अकाउंट को आगे भी पांच साल के लिए सालाना आधार पर बढ़ाया जा सकता है।

इसके अलावा पोस्ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट अकाउंट में नॉमिनी सुविधा भी उपलब्ध है। जी हां, दरअसल आप अपने नॉमिनी को अकाउंट खोलते समय भी शामिल कर सकते हैं और अकाउंट खुलने के बाद भी जोड़ सकते हैं।

साथ ही रेकरिंग डिपॉजिट अकाउंट डाकघर में एक से ज्यादा भी खोले जा सकते हैं।

आपको बता दें कि नाबालिग के नाम पर भी आप आरडी अकाउंट खोल सकते हैं। दरअसल 10 साल से अधिक उम्र के नाबालिग का खाता खोला जा सकता है और उसे ऑपरेट किया जा सकता है। बता दें कि मेच्योरिटी के समय नाबालिग को अपने नाम पर खाता को बदलवाने के लिए आवेदन देना होता है।

वहीं 2 वयस्क मिलकर भी रेकरिंग अकाउंट खोल सकते हैं। बता दें कि सिंगल अकाउंट को ज्वाइंट अकाउंट में बदला जा सकता है और इसी प्रकार ज्वाइंट अकाउंट को सिंगल अकाउंट में बदला जा सकता है।

मालूम हो कि डाकघर के आरडी अकाउंट से निवेश के एक साल बाद एक बार निकासी अधिकतम 50 हजार रुपये तक की जा सकती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.