Loading...

सिर्फ सेक्स नहीं सुहागरात का मतलब, होता है और भी बहुत कुछ

0 14

शादी की पहली रात को ज्यादातर आम बोलचाल की भाषा में सुहागरात के नाम से पुकारा जाता है। इसका मतलब सिर्फ गुलाब से सजा बेड ही नहीं होता शराब के नशे में धुत पति और वाइल्ड सेक्स नहीं होता। आपको बता दें कि इसके अलावा भी ऐसी बहुत सारी चीजें होती है। जिसके अंदर आती है जी हां चलिए आपको बताते है ऐसी साथ भारतीय महिलाओं की पहली रात की कहानियों के बारे में।

यह कंडीशन मेरे लिए बहुत ज्यादा अजीब थी। क्योंकि मेरे पति अपने पेरेंट्स के साथ रहते थे और हमें अपनी सुहागरात उनके घर पर मनानी पड़ी। हालांकि यह बात अलग है कि हमारा बेडरूम उनके बेडरूम से बिल्कुल ही सटा हुआ था और हम दोनों ही अपनी सुहागरात को लेकर बहुत ज्यादा एक्साइटेड थे। लेकिन हमें खुद पर बहुत ज्यादा कंट्रोल करना पड़ा। क्योंकि मुझे डर था कि कहीं हमारी आवाज में उनके कमरे तक ना चली जाए।

हमारा लोंग डिस्टेंस रिलेशनशिप था और मैं अपने पति को 6 महीने बाद शादी के दिन देख रही थी। हालांकि हम दोनों ही काफी ज्यादा एक्साइटेड थे और दिन खत्म होने का बहुत ज्यादा बेसब्री से इंतजार कर रहे थे और आखिरकार हमें एक ऐसा टाइम मिल ही गया जब हम अकेले थे। जिस वक्त की हमें तलाश थी उस समय हम एक दूसरे के करीब आए और हमने फोरप्ले शुरू किया। तभी मैंने देखा कि मेरे पति के चेहरे के फेस पर अजीब सी शर्मिंदगी थी। हालांकि मुझे सब समझ नहीं आया तभी मैंने देखा कि बहुत ज्यादा एक्साइटेड होने के कारण सेक्स से पहले ही उनका शीघ्रपतन हो गया।

हमारी सुहागरात तो नहीं हुई क्योंकि हम आधी तक स्टेज पर ही खड़े थे। घर में मेहमानों का आना जाना लगा था और सब कुछ खत्म होने के बाद जब हम अपने कमरे में पहुंचे तो इतना ज्यादा थक चुके थे कि हमें पता ही नहीं चला कि नींद कब आ गई।

Loading...

शादी के दिन मेहमान, कैमरामैन, वीडियो ग्राफर, रिश्तेदार और मेहमानों के सामने मुस्कुरा-मुस्कुरा कर मेरी चेहरे की मांसपेशियां इतनी ज्यादा खींच गई थी कि मैं बुरी तरह से परेशान हो गई थी और मेरे शरीर के अंदर इतनी भी हिम्मत नहीं बची थी कि मैं जाकर अपने कमरे में तरीके से बैठ सकूं।

मेरी और मेरे पति हम दोनों की यह दूसरी शादी थी। हमारे बच्चे भी सेटल हो चुके थे और उन्होंने भी हमारे लिए होटल में कमरा बुक किया था। ताकि हम एक दूसरे के साथ कुछ समय बिता सकें पहले तो मुझे यह बहुत अजीब लगा। लेकिन मेरे पति ने मुझे फेवरेट सीडी गिफ्ट कर दी तो मैं बहुत ज्यादा खुश हुई क्योंकि वह मेरे फेवरेट फिल्म की सीडी थी। और हम दोनों ने रात भर बैठ कर उस फिल्म को इंजॉय किया।

हम दोनों ही लोग अलग-अलग कम्युनिटीज से आते है। इसलिए हमारे रीति-रिवाजों में काफी ज्यादा अंतर था। विदाई के बाद जब मैं अपने पति के घर पहुंची तो मुझे बंगाली परंपरा के मुताबिक पता चला की सुहागरात तो हम दोनों एक दूसरे को देखे नहीं सकते।

हम दोनों ही वर्जन थे और हमारे दिमाग में बहुत सारे आईडिया से दूसरी तरफ मेरा दिमाग बिल्कुल खाली था। लेकिन मेरे पति बहुत ज्यादा एक्साइटेड थे। हम दोनों ही छोटी उम्र के थे और जब हमें अकेलापन मिला तो हमें पता ही नहीं था कि हमें क्या करना चाहिए। सेक्स हम दोनों के दिमाग में था क्योंकि इसकी शुरुआत कैसे करें यह बात समझ नहीं आ रही थी। इसके बाद के बीच में सेक्स शुरू किया लेकिन बीच में ही रोकना पड़ा जब मैं दर्द से चिल्लाने लगी।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.