Loading...

इस योजना में करें मात्र 22 रु का इंतजाम, पति-पत्नी आजीवन 96 हजार सालाना के हो जाएंगे हकदार

0 45

निवेश के बात करें तो बाजार में बहुत से सेविंग ऑप्शन मौजूद हैं, लेकिन निवेश करते वक्त यह देखना होता है कि निवेश आपका सुरक्षित जगह पर हो। दरअसल सुरक्षित निवेश जरुरी है और साथ ही यह भी आवश्यक है कि रिटर्न भी बेहतर मिले।

बता दें कि अगर आप निवेश की प्लानिंग कर रहे हैं और सुरक्षित निवेश का विकल्प तलाश कर रहे हैं तो आज हम आपको 2 ऐसे निवेश विकल्पों के बारे में बता रहे हैं जहां पर आपका पैसा सबसे ज्यादा सुरक्षित रहेगा और अच्छा रिटर्न भी मिलेगा। चलिए जानते हैं इसके बारे में..

दरअसल सरकार ने कमजोर आय वर्ग को देखते हुए ऐसी 2 पेंशन योजनाएं चलाई हैं, जिसमें अलग अलग फैमिली के सदस्य शामिल हो सकते हैं. बता दें कि इनमें एक है अटल पेंशन योजना यानी APY और दूसरी पीएम श्रम योगी मान-धन योजना यानी PMSYM है.

आपको बता दें कि इन दोनों योजनाओं से पति और पत्नी अलग अलग जुड़ सकते हैं. दरअसल हम यहां एक कैलकुलेशन के आधार पर बताएंगे कि कैसे मात्र रोज 22 रुपये की सेविंग से पति-पत्नी आजीवन 96 हजार रुपये पेंशन के हकदार बन जाएंगे.

Loading...

मालूम हो कि यहां हमने पति की उम्र 30 साल और पत्नी की उम्र 27 साल मानकर कैलकुलेशन की है. बता दें कि दोनों ही योजनाओं में कोई भी 18 साल का भारतीय नागरिक जुड़ सकता है.

दरअसल यहां हमने मान लिया है कि पति और पत्नी में से एक अटल पेंशन योजना से और दूसरा पीएम श्रम योगी मान-धन योजना से जुड़ रहा है.

हालांकि यहां एक बात का ध्यान रहे कि इन योजनाओं से जुड़ने की उम्र 18 से 40 साल है. बता दें कि उम्र के हिसाब से ही मंथली अंशदान तय होता है.

कैलकुलेशन: आजीवन 96 हजार सालाना का इंतजाम

बता दें कि अगर पति अटल पेंशन योजना से 30 की उम्र में 5000 रुपये महीने की पेंशन के लिए जुड़ता है तो उसे महीने का अंशदान 577 रुपये करना होगा. वहीं दूसरी ओर पत्नी को 27 की उम्र में 3000 रुपये प्रति माह पेंशन के लिए पीएम श्रम योगी मान—धन योजना से जुड़ने के लिए महीने का 90 रुपये योगदान करना होगा. दरअसल इस लिहाज से मंथली कुल योगदान 660 रुपये होगा. यह प्रति दिन के हिसाब से यह राशि 22 रुपये होगी.

मालूम हो कि दोनों को यह निवेश 60 साल की उम्र पूरा होने तक करना होगा. बता दें कि इस लिहाज से पति की उम्र 60 साल पूरी होने पर उसे 5000 रुपये मंथली पेंशन मिलने लगेगी.

दरअसल इसके बाद पत्नी को 3 साल तक हर महीने 90 रुपये के हिसाब से ही अंशदार करना होगा. बता दें कि 3 साल बाद उसे भी 3 हजार रुपये मंथली पेंशन मिलनी शुरू हो जाएगी. यानी आपको बता दें कि दोनों को मिलाकर महीने का 8000 रुपये या साल भर में 96 हजार रुपये पेंशन आजीवन मिलता रहगा.

ये है अटल पेंशन योजना

जानकारी के लिए बता दें कि अटल पेंशन योजना यानी कि APY भारत सरकार से गारंटी प्राप्‍त पेंशन योजना है, जो पीएफआरडीए द्वारा संचालित की जा रही है. दरअसल भारत सरकार इसके तहत मिलने वाले पेंशन से जुड़े लाभों की गारंटी देती है.

मालूम हो कि इस पेंशन योजना का फायदा उठाने के लिए आपकी उम्र कम से कम 18 और ज्यादा से ज्यादा 40 साल होनी चहिए. इस योजना के तहत कम से कम 20 साल तक निवेश करना होगा.

बता दें कि इसके तहत कम से कम 1000 रुपये मासिक और अधिकतम 5000 रुपये मासिक पेंशन मिल सकता है. 18 साल से 40 साल की उम्र के लोगों को इसके लिए अलग अलग अंशदान करना होगा.

APY: अलग-अलग उम्र और पेंशन के लिए प्लान

https://www.npscra.nsdl.co.in/nsdl/scheme-details/APY_Subscribers_Contribution_Chart_1.pdf

पीएम श्रम योगी मान-धन योजना

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री श्रम-योगी मानधन यानी कि PMSYM पेंशन योजना में सरकार की तरफ से गारंटी मिलती है. दरअसल यह भी कमजोर आय वर्ग के लिए है. बता दें कि इससे कोई भी अंसगठित क्षेत्र से जुड़ा कामगर जुड़ सकता है, जिसकी उम्र 18 से 40 वर्ष के बीच हो.

यही नहीं, इसके साथ ही किसी भी सरकारी स्कीम का फायदा न ले रहा हो. बता दें कि योजना के तहत मामूली अंशदान पर 3000 रुपये मंथली पेंशन का प्रावधान है.

दरअसल इसके लिए 18 साल से 40 साल के उम्र के लोगों को 55 रुपये से 200 रुपये महीने तक अंशदान करना होता है. आवेदन करने वाले व्यक्ति के पास सेविंग बैंक अकाउंट और आधार कार्ड होना जरूरी है.

PMSYM: यहां देखें पूरी डिटेल

https://labour.gov.in/pm-sym

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.