Loading...

इस बैंक में खुलवाएं PPF अकाउंट और पाइए मोटा ब्याज, जानिए क्या है इसका ऑनलाइन प्रोसेस

0 61

सभी नौकरीपेशा लोगों के लिए पब्लिक प्रोविडेंट फंड बेहद महत्वपूर्ण होता है। दरअसल पब्लिक प्रोविडेंट फंड जिसे आमतौर पर PPF के नाम से जाना जाता है बेहद प्रचलित योजना है। मालूम हो कि यह भारत सरकार की ओर से ऑफर किया गया स्माल सेविंग फंड है।

आपको बता दें कि इसकी ब्याज दरें केंद्र सरकार द्वारा 3 महीने पर एक बार निर्धारित की जाती है। दरअसल मौजूदा समय में इस पर 7.9% सालाना ब्याज है। पीपीएफ खाते में न्यूनतम 500 रुपये की राशि जमा की जा सकती है, जबकि अधिकतम एक वित्तीय वर्ष में 1.5 लाख रुपये तक जमा किया जा सकता है।

मालूम हो कि पीपीएफ खाते पर मिलने वाले ब्याज पर आयकर नहीं देना होता है। इसे खाते को डाकघर में भी खोला जा सकता है। इसके अलावा कुछ बैंक जैसे भारतीय स्टेट बैंक यानी एसबीआई और आईसीआईसीआई बैंक भी पीपीएफ खाता खोलने का विकल्प देते हैं। बता दें कि आप अकाउंट को ब्रांच में जाकर या ऑनलाइन खोल सकते हैं। यदि आप चाहें तो ऑनलाइन एसबीआई पीपीएफ खाता खोल सकते हैं।

इस तरह खुलवाएं ऑनलाइन SBI PPF खाता

Loading...

बता दें कि सबसे पहले SBI ऑनलाइन खाता लॉग इन करें। इसके बाद ‘अनुरोध और पूछताछ’ टैब पर क्लिक करें।

मालूम हो कि जब आप मेन्यू में नीचे जाएंगे तो आपको नए पीपीएफ खाते के विकल्प पर क्लिक करना होग। दरअसल जब आप इसपर क्लिक करेंगे तो यह आपसे खाते की जानकारी पूछेगा।

बता दें कि यदि आप खाता किसी नाबालिग के लिए खोलना चाहते हैं तो आपको विकल्प में दिए गए नाबालिग के लिए खाता खोलें इस पर क्लिक करना होगा।

इसके बाद अब आप नाबालिग के बारे में जानकारी भरें, जैसे नाम, उम्र इसके अलावा आपका नाबालिग के साथ क्या रिश्ता है।

बता दें कि यदि आप नाबालिग के नाम से खाता नहीं खोलना चाहते हैं तो आपको उस ब्रांच का कोड भरना होगा जिसमें आप अपना PPF खाता खोलना चाहते हैं।

मालूम हो कि ब्रांच कोड डालने के बाद आपको नॉमिनी का नाम बताने के लिए कहा जाएगा। बता दें कि PPF खाते के लिए आप अधिकतम पांच नॉमिनी जोड़े सकते हैं।

बता दें कि सबमिट करने के बाद एक डायलॉग बॉक्स दिखाई देगा जिसमें लिखा होगा, ‘आपका फॉर्म सफलतापूर्वक सबमिट हो गया है’। इसमें रेफरेंस नंबर भी होगा।

मालूम हो कि अब आपको दिए गए रेफेरंस संख्या के साथ फॉर्म डाउनलोड करना होगा।

बता दें कि फॉर्म डाउनलोड करने के बाद आपको केवाईसी दस्तावेजों के साथ फॉर्म को प्रिंट करके भरना होगा और 30 दिनों के भीतर ब्रांच में जमा करना होगा।

पीपीएफ अकाउंट की यह है अवधि

जानकारी के लिए बता दें कि पीपीएफ अकाउंट की अवधि मुख्य रूप से 15 साल की है। दरअसल इसके बाद अगर आप अवधि बढ़वाना चाहते हैं, तो आवेदन करके 5 साल के एक या अधिक ब्लॉक्स के लिए योजना की अवधि बढ़ाई जा सकती

अगर समय से पहले करते हैं निकासी

मालूम हो कि इस योजना में कुछ शर्तों के साथ आपको 5 साल की अवधि पूरी करनी होगी, फिर आपको निकासी की अनुमति होगी। दरअसल यह सुविधा नाबालिगों के अकाउंट पर भी लागू है।

खाते का ट्रांसफर

आपको बता दें यदि कोई ग्राहक अपने खाते का ट्रांसफर करवाना चाहता है तो वह SBI के अन्य ब्रांच अथवा डाकघरों में खाते को ट्रांसफर किया जा सकता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.