Loading...

आप किसी भी शहर में बनवा सकते हैं ड्राइविंग लाइसेंस, जानिए क्या है आवेदन की पूरी प्रक्रिया

0 33

देश में इन दिनों चारों तरफ किसी एक विषय की सबसे ज्यादा चर्चा है तो वो है हाल ही में लागू हुआ संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट। दरअसल इसके लागू होने के बाद यातायात नियमों को तोड़ने वाले लोगों के हजार से लेकर लाखों रुपये तक के चालान काटे जा रहे हैं।

यही कारण है कि मोटर व्हीकल लागू होने के बाद अब लाइसेंस और पॉल्यूशन सर्टिफिकेट बनवाने वालों का तांता लग गया है। इसके वजह से लाइसेंस के लिए ऐसे लोगों को परेशान होना पड़ रहा है, जो किसी अन्य शहर से आकर दूसरे शहर में रह रहें हैं।

बता दें कि लोगों को लाइसेंस बनवाने में दिक्कतों का सामना इसलिए करना पड़ रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि उनके जरूरी काग़जातों पर उनका मूल पता लिखा है वो बाहर का है। यही कारण है कि लोगों का ड्राइविंग लाइसेंस नहीं बन पा रहा है।

ऐसे में कई लोगों को अपने मूल प्रदेश से ही लाइसेंस बनवाने की सलाह दी जा रही है। लेकिन ऐसा नहीं हैं, क्योंकि आप किसी भी शहर में अपना ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकते हैं।

Loading...

इसके लिए आपके पास कुछ जरूरी दस्तावेज होना अति आवश्यक हैं

बता दें कि यदि आपके पास अपने राज्य का मूल पहचान पत्र हैं तो आप अपना लाइसेंस दूसरे राज्य में बनवा सकते हैं। लेकिन आपके पास जहां आप रह रहे हैं वहां की तहसील से बनवाया हुआ रजिस्टर्ड रेंट अग्रीमेंट जरुर होना चाहिए।

यही नहीं, इसके साथ ही कंपनी के एचआर डिपार्टमेंट से जारी लेटर व कंपनी का आई कार्ड भी होना चाहिए। बता दें कि यह नियम पूरे देश के सभी राज्यों में लागू कर दी गई है। हालांकि आम लोगों को इस जानकारी का आभाव होने के कारण कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

मालूम हो कि दो पहिया से लेकर कमर्शिल वाहन तक, अगर आप सड़क पर कोई भी गाड़ी चलाना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको ड्राइविंग लाइसेंस की आवश्यकता पड़ेगी।

इस प्रकार बनवाए लाइसेंस

आपको बता दें कि अगर आपने अभी तक एक बार भी लाइसेंस नहीं बनवाया है तो आपको सर्वप्रथम लर्नर लाइसेंस बनवाना होगा। दरअसल लर्नर लाइसेंस के बाद ही परमानेंट लाइसेंस बनवा सकते हैं। आयु सीमा की बात की जाए तो ड्राइविंग लाइसेंस यानी कि DL बनवाने के लिए आपकी उम्र 18 वर्ष होनी अनिवार्य है।

मालूम हो कि ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आपको दस्तावेज के तौर पर अपने आधार कार्ड की जरूरत पड़ेगी। यहां जानकारी के लिए बता दें कि ड्राइविंग लाइसेंस भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त एक महत्वपूर्ण और वैध पहचान प्रमाण है।

आपको बता दें कि पहले ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आपको कई बार आरटीओ ऑफिस के चक्कर लगाने पड़ते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं है।

मालूम हो कि अब आप ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस के लिए कहीं से भी अप्लाई कर सकते हैं। लर्नर लाइसेंस बनवाने की फीस मात्र 200 रुपये है।

वहीं इसके अलावा लर्नर लाइसेंस को ड्राइविंग लाइसेंस में तब्दील कराने के लिए आपको 200 रुपये और चुकाने होंगे।

इस तरह करें ड्राइविंग लाईसेंस के लिए आवेदन

वेबसाइट पर अपना राज्य चुनने के बाद एक नया पेज खुलेगा जिसमें बांयी तरफ आपको लर्नर लाइसेंस के लिए अप्लाई करने का ऑप्शन दिखेगा। उसपर क्लिक करें और सामने खुले फॉर्म को भरें।

फॉर्म भरने के बाद स्क्रीन पर एक नंबर दिखेगा, उसे सेव कर लें। इसके बाद आपको अपने डॉक्युमेंट्स जैसे (उम्र का प्रमाण, अड्रेस प्रूफ, आईडी प्रूफ) अपलोड करना होंगा।

इसके बाद अपनी फोटो तथा सिग्नेचर अपलोड करें।

फिर आप अपने लर्नर लाइसेंस के लिए होने वाले टेस्ट के लिए स्लॉट बुक कर सकते हैं।

स्लॉट का चुनाव करने के बाद आपको फीस पेमेंट करना होगा। इसके बाद आपके मोबाइल पर एक मेसेज आएगा। उस मेसेज को सेव कर लें।

फीस पेमेंट के बाद तय स्लॉट के हिसाब से आरटीओ ऑफिस जाएं और टेस्ट दें। अगर आप टेस्ट में पास हो गए तो 24 से 48 घंटे में आप ऑनलाइन अपना लर्नर लाइसेंस प्रिंट कर सकते हैं।

जैसा की आपको ज्ञात हो लर्निंग लाइसेंस की वैधता 6 महीने तक ही होती है, इसलिए उससे पहले ही आपको परमानेंन्ट लाइसेंस लेना होता है।

लार्निंग लाइसेंस मिलने के 1 महीने के बाद से लेकर 6 महीने के बीच आपको दोबारा ऑनलाइन अप्लाई करके टेस्ट देना होता है और उसे भी पास करने के बाद आपको ड्राइविंग लाइसेंस मिल जाता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.