Loading...

आप ऐसे चेक कर सकते हैं आयुष्मान भारत योजना में अपना नाम और इस तरह उठाएं फायदा

0 185

यदि हम देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा जनता के लिए शुरू की गई विभिन्न योजनाओं में से सबसे महत्वकांक्षी योजना की बात करें तो सबसे पहले जहन में आयुष्मान भारत योजना का नाम ही आता है. बता दें कि अगर आप भी मोदी सरकार की सबसे बड़ी हेल्थ स्कीम आयुष्मान भारत योजना या प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो सबसे पहले यह पता करना होगा कि आप इसके पात्र हैं या नहीं.

जी हां, दरअसल इस योजना में अपना और अपने परिवार का नाम देखने के लिए आपको इस योजना की वेबसाइट जिसका लिंक यह है https://www.pmjay.gov.in की मदद लेनी होगी. बता दें कि मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत 10 करोड़ से अधिक परिवारों को लाभ देने का वादा किया है. आप अपने मोबाइल नंबर से लॉगिन कर पता कर सकते हैं कि आप या आपका परिवार प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में सम्मिलित है या नहीं.

इस तरह देख सकेंगे अपना नाम

बता दें कि सर्वप्रथम जब आप वेबसाइट खोलते हैं तो इसके दाहिने तरफ आपको Am I eligible लिखा मिलेगा. दरअसल अब आपको Am I eligible लिखे पर क्लिक करना पड़ेगा. बता दें कि आप जैसे ही इस पर क्लिक करेंगे आपको इस पेज पर एक मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड दिखाई देगा.

Loading...

मालूम हो कि अब आपको आधार कार्ड या सरकारी योजनाओं में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर इसमें डालना होगा. बता दें कि जैसे ही आप नंबर डालेंगे तो आपके मोबाइल पर ओटीपी नंबर आएगा. ओटीपी नंबर को जैसे ही डालेंगे तो आप किस राज्य के निवासी हैं उसका विकल्प सामने आ जाएगा.

मालूम हो कि अब आपके पास दो तरह से आयुष्मान भारत योजना में अपना नाम खोजने का विकल्प दिखेगा. पहला, कैटेगरी के जरिए और दूसरा अपने नाम के जरिए. अब आपको अपने और अपने परिवार का पूरा ब्योरा भरना पड़ेगा. बता दें कि अगर आप विवरण भर लेते हैं तो फिर खोजने वाले ऑप्शन पर क्लिक करते हैं तो आपका और आपके परिवार का पूरा ब्योरा आ जाता है.

नाम नहीं होने पर न हों निराश

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यदि आपका या आपके परिवार का आयुष्मान भारत में नाम नहीं है तो फिर Sorry, we can’t find the page you want लिखा हुआ आ जाएगा. यह लिखे होने पर भी आप निराश नहीं हों.

जी हां, दरअसल अगर आपको लगता है कि आपका नाम इस योजना में होना चाहिए तो टोल फ्री नंबर पर कॉल कर सकते हैं. आपके पास अभी भी कई विकल्प हैं, जिसके माध्यम से आप इस योजना के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं या फिर शिकायत दर्ज करा सकते हैं. बता दें कि आप अपनी शिकायत इस टोल फ्री नंबर–14555 पर सकते हैं. यह टोल फ्री सेवा चौबीसों घंटे खुली रहती हैं.

आवेदन की ये है प्रक्रिया

मालूम हो कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ लेने के लिए आपको कोई आवेदन करने की जरूरत नहीं है. दरअसल अगर आपका परिवार प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना लिस्ट में सम्मिलित है तो आप चिकित्सा उपचार के लिए किसी भी सूचीबद्ध अस्पताल में प्रति वर्ष 5 लाख रुपये तक का लाभ उठा सकते हैं.

बता दें कि हाल के वर्षों में मोदी सरकार ने कई योजनाओं की शुरुआत की है. दरअसल केंद्र सरकार की बहुत सी योजनाएं ऐसी हैं, जिसके बारे में लोग सुनते तो जरूर हैं लेकिन उनको उस योजना का लाभ लेने का तरीका नहीं आता है.

खासकर मोदी सरकार ने कई योजनाओं का डिजिटलीकरण कर दिया गया है. बता दें कि देश में कई योजनाएं हैं चलाई जा रही हैं, लेकिन आर्थिक तौर पर गरीब और गांव-देहात में रहने वालों को इन योजनाओं का लाभ नहीं पहुंच पाता है. दरअसल मोदी सरकार की आय़ुष्मान भारत योजना भी उन्हीं योजनाओं में से एक है.

जानिए कब रखी गई थी इस योजना की नींव

मालूम हो कि मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में आयुष्मान भारत योजना की नींव रखी गई थी. जी हां,बता दें कि साल 2018-19 के बजट भाषण में उस समय के वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में बजट पेश करते हुए मोदी सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना का ऐलान किया था.

दरअसल अपने बजट भाषण में अरुण जेटली ने देश की गरीब जनता को आय़ुष्मान भारत योजना की सौगात दी थी. बता दें कि जेटली ने कहा था कि यह योजना देश की गरीब जनता के स्वास्थ्य के लिए लायी गई है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस योजना के अंतर्गत देश के 50 करोड़ लोगों को 5 लाख रुपये तक का हेल्थ बीमा प्रदान किया जाएगा. दरअसल अरुण जेटली ने इस योजना का ऐलान करते हुए कहा था कि देश की 40% आबादी को सरकार हेल्थ बीमा उपलब्ध कराएगी.

मालूम हो कि मोदी सरकार के इस ऐलान के बाद ही लोग आयुष्मान भारत योजना में अपना नाम और रजिस्ट्रेशन करने के लिए परेशान हो गए. दरअसल लोगों को ठीक से जानकारी नहीं होने के कारण इस योजना के रजिस्ट्रेशन और अपना नाम देखने में अभी भी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है.

ये है आजाद भारत के इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी योजना

आपको बता दें कि Ayushman Bharat Yojana 2019 आर्थिक रुप से कमजोर लोगों के लिए लाई गई सरकार की सबसे बड़ी महत्वाकांक्षी योजना है. जी हां, दरअसल मोदी सरकार का लक्ष्य है कि इस योजना को शुरुआती चरणों में 10 लाख परिवारों तक पहुंचाया जाए.

मालूम हो कि इस योजना में उचित लाभार्थियों को सरकार सीधे तौर पर 5 लाख रुपये की धनराशि का लाभ प्राप्त होगा. बता दें कि कैंसर, दिल की बीमारी, किडनी और लिवर की बीमारी, डायबटीज समेत 1300 से अधिक बीमारियों का इलाज इस योजना में शामिल है. खास बात यह है कि मरीज को इन सभी गंभीर बीमारियों का इलाज सरकारी और गैरसरकारी दोनों अस्पतालों में किया जा सकेगा.

दरअसल मोदी सरकार ने कहा है कि यह हेल्थ बीमा कैशलेस होगा. वहीं इसके साथ जिन लोगों को हार्ट, शुगर, किडनी सहित अन्य गंभीर बीमारी हैं वह भी योजना का लाभ ले सकेंगे. हालांकि, यदि कोई व्यक्ति प्राइवेट हेल्थ बीमा करवाता है तो उसको आयुष्मान भारत योजना का लाभ नहीं मिलेगा.

बता दें कि मोदी सरकार ने शुरुआती चरणों में इस योजना के लिए 1200 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है. दरअसल इस धनराशि का उपयोग राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के जरिए जिला, तहसील व ब्लाक एवं गांव स्तर तक के अस्पतालों के सुधार एवं वहां पर नई सुविधाओं का प्रबंधन करने के लिए किया जाएगा. मालूम हो कि इसके साथ ही मोदी सरकार देश में 24 नए मेडिकल कॉलेज भी खोलने की योजना बना रही है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.