Loading...

कई औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं पान के पत्ते, फायदे जानकर रह जाओगे हैरान

0 1

यह बात तो सभी जानते है कि उत्तर भारत में पान को बड़े चाव से खाया जाता है। और यह लोक संस्कृति का भी महत्वपूर्ण हिस्सा है। हालांकि पान बनारस का हो या फिर कानपुर का शौक के तौर पर खाना पसंद करते है। स्वाद बदलने वाले पान और इसमें इस्तेमाल की जाने वाली काफी सारी चीज़ें ऐसी होती हैं। जिसका इस्तेमाल दवाइयां बनाने के लिए किया जाता हैं।

Loading...

जानिए पान के पत्तों के बेहतरीन फायदें

आपको बता दें कि पान के पत्ते का इस्तेमाल पूजा पाठ के दौरान भी किया जाता है। पान भारतीय संस्कृति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होने के साथ-साथ एक महत्वपूर्ण औषधि भी है। पान के पत्तों में प्रोटीन कार्बोहाइड्रेट कैल्शियम फास्फोरस और आयोडीन और प्रोटीन महत्वपूर्ण तत्व पाए जाते हैं। यह सर्दी खासी होने पर काफी ज्यादा कारगर साबित होते है। उंगलियों में सूजन की शिकायत काफी लोगों को होती है। इसे कम करने के लिए पान के पत्तों को गरम पानी कर की उंगलियों पर लपेटने से लाभ मिलता है। जिन लोगों को आइडिया की शिकायत है वह लोग पान के पत्ते में एक छोटा सा कपूर डालकर चलाएं और कुत्ते जाए ऐसा करने से भी लाभ मिलता है।

Loading...

यह बात ही सभी जानते हैं कि खाना खाने के बाद सौंफ खाना या फिर पानी में सौंफ डालकर पीना स्वास्थ्य के लिए कारगर साबित होता है। लेकिन क्या आप इस बात को जानते हैं कि सौंफ खाने से पाचन तंत्र भी मजबूत होता है। इतना ही नहीं इसके अलावा पेट में गैस की तकलीफ या फिर पेट में कब्ज की समस्या से भी राहत दिलाती है सफेद महत्वपूर्ण असरदार होता है।

आपको बता दें कि सौंफ के अंदर कॉपर पोटेशियम फॉस्फोरस कैल्शियम मैग्नीशियम और मैग्नीशियम जैसे महत्वपूर्ण मिनरल्स पाए जाते हैं। सौंफ खाने से दिल भी स्वस्थ रहता है क्योंकि वह फाइबर से भरे होते हैं। इसके अंदर ऐसे पोषक तत्व भी पाए जाते हैं जो उच्च कोलेस्ट्रोल को कम करते हैं।

हाल ही में हुए एक सर्वे के मुताबिक स्तनपान कराने वाली महिलाओं को चाय पीने के लिए सौंफ पाउडर के 7.5 ग्राम चाय के 3 ग्राम और 3 ग्राम काली चाय 4 हफ्ते में तीन बार रोजाना पीनी चाहिए। 4 हफ्ते के बाद ही चीजों की माएं सौंफ की चाय पीती है। उनकी सीडिंग डायपर की संख्या वह स्तन की आकृति वजन बढ़ना और शिशु की सिर की परिधि थोड़ी अधिक हो जाती है।

सुपारी के फायदे

पान के साथ इस्तेमाल की जाने वाली सुपारी के भी कई सारे फायदे होते हैं। सुपारी के छोटे-छोटे टुकड़े पानी में उबालें और जब तक पानी आधा ना हो जाए इसको उबालते रहे। इसके बाद उसको छानकर पी लें। ऐसा सुबह-शाम रोजाना करने से आमाशय और आंतों की कमजोरी से भी निजात मिलती है। सुपारी के बारीक टुकड़ों को पीसकर चूर्ण बना लें और उससे मंजन करें ऐसा करने से दांत के दर्द में आराम मिलता हैं।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.