Loading...

7वां वेतन आयोग: रेलवे के हजारों कर्मचारियों को मिला तोहफा, बोनस हो गया डबल, साथ में मिलेगा 2 साल एरियर भी

0 1

देश की रेलवे मिनिस्‍ट्री ने रेल कर्मचारियों को त्‍योहार से पहले बड़ा तोहफा दिया है. जी हां, दरअसल मिनिस्‍ट्री ने रेलवे वर्कशॉप और प्रोडक्‍शन यूनिट में काम करने वाले हजारों रेल कर्मचारियों का इंसेटिव बोनस डबल कर दिया है.

Loading...

आपको बता दें कि, इन कर्मचारियों को 7वें वेतन आयोग के तहत इंसेटिव बोनस नहीं मिल रहा था. दरअसल इसे अब 7वें वेतन आयोग की सिफारिश पर बढ़ा दिया गया है. 7वें वेतन आयोग में अकुशल कर्मचारी का इंसेटिव बोनस 6760 रुपए से बढ़कर 12168 रुपए करने की सिफारिश है.

होगी बॉयोमेट्रिक अटेंडेंस

Loading...

मालूम हो कि रेलवे मिनिस्‍ट्री ने अपने आदेश में कहा है कि 7वें वेतन आयोग के तहत 2.25 फैक्‍टर को इंसेटिव बोनस में लागू किया जाएगा. दरअसल यह इंसेटिव बोनस रेल कर्मचारियों को घंटों के आधार पर मिलता है. इसके अलावा अब सभी रेलवे वर्कशॉप और प्रोडक्‍शन यूनिट में कर्मचारी की उपस्थिति दर्ज करने के लिए बॉयोमेट्रिक मशीन लगेगी.

मिलेगा मोटा एरियर

आपको बता दें कि मिनिस्‍ट्री के आदेश के मुताबिक इंसेटिव बोनस में यह बढ़ोतरी 1 जुलाई 2017 से लागू हुई है. यानि मतलब यह कि रेल कर्मचारियों को अच्‍छा खासा एरियर भी मिलने की उम्‍मीद है. बता दें कि यह आदेश रेलवे मिनिस्‍ट्री के फाइनेंस डायरेक्‍ट्रेट से मंजूरी के बाद जारी किया गया है.

भत्‍ते में बदलने की मांग

मालूम हो कि ऑल इंडिया रेलवे मेन्स फेडरेशन यानी AIRF के जनरल सेक्रेटरी शिव गोपाल मिश्रा ने इस संबंध में बताया कि रेलवे यूनियन इंसेटिव बोनस को रिवाइज करने के लिए रेलवे मिनिस्‍ट्री पर लंबे समय से दबाव बनाए हुए थीं. दरअसल मई में मिनिस्‍ट्री ने उनका प्रस्‍ताव मान लिया था. बता दें कि उन्‍होंने यह कहा कि हमने इस इंसेटिव बोनस को भत्‍ते में बदलने की मांग की थी.

इन वर्करों को होगा फायदा

आपको बता दें कि भारतीय रेलवे के इस फैसले से चितरंजन लोकोमोटिव्‍स वर्क्‍स यानी कि CLW के वर्करों को सबसे ज्‍यादा फायदा होगा. दरअसल वर्कशॉप में काम करने वाले रेलवे कर्मचारियों को ड्यूटी खत्‍म होने के बाद भी काम करने पर हर घंटे के लिए इनसेंटिव बोनस दिया जाता है. बता दें इसे आसान भाषा में ओवरटाइम कहते हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.