Loading...

पाकिस्तान में महंगाई की मार, थाली से गायब हुई सब्जियां, केला-दही के दाम सुनकर रह जाएंगे हैरान

0 27

भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान की हालत इन दिनों बेहद खराब है. जी हां, दरअसल कर्ज का बोझ, पड़ोसी मुल्क के साथ ट्रेड खत्म होना, और लगातार घटता देश का खजाना और महंगाई की मार इन सब से पाकिस्तान चौतरफा बर्बादी से घिर गया है और जनता बेहाल हो रही है.

दरअसल भारत के साथ दुश्मनी का असर इतना गहरा है कि खाने तक के लाले पड़ गए हैं. बता दें कि जम्मू-कश्मीर से धारा 370 खत्म करने के विरोध में भारत के साथ क्रॉस बॉर्डर ट्रेड खत्म करना उसे खुद काफी महंगा पड़ा है. दरअसल महंगाई की मार ने वहां की आवाम को भूख से बिलखने पर मजबूर कर दिया है.

सब्जियों के दाम पहुंचे आसमान पर

आपको बता दें कि पाकिस्तान के डॉन अखबार की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कराची में अदरक 400 रुपए पहुंच गया है. वहीं लहुसन 320 रुपए प्रति किलो बिक रहा है. इसके अलावा तुरई 150 रुपए प्रति किलो, लौकी 120 रुपए प्रति किलो, बंदगोभी 80 रुपए प्रति किलो और शिमला मिर्च 120 रुपए पहुंच चुकी है.

Loading...

वहीं हरी मिर्च ने तो तड़के का स्वाद ही बिगाड़ दिया है. जी हां, दरअसल फुटकर बाजार में हरी मिर्च 100 रुपए रुपए किलो बिक रही है. वहीं चीन से इंपोर्ट होने वाला अदरक थोक बाजार में 280 रुपए प्रति किलो है. इसके अलावा, ईरान का लहुसन 240 रुपए किलो के दाम पर बिक रहा है.

ब्रेड-मक्खन खाने के भी पड़े लाले

मालूम हो कि पाकिस्तान की हालत इतनी ज्यादा खराब हो चुकी है कि ब्रेड और मक्खन खरीदने से भी लोग घबरा रहे हैं. जी हां, दरअसल यहां पर छोटी ब्रेड का पैकेट 35 रुपए, मध्यम साइज की ब्रेड 56 रुपए और बड़ी ब्रेड का पैकेट 100 रुपए का बिक रहा है. यही नहीं, चार पीस वाला बन 55 रुपये और रस्क के पैकेट का दाम 80 रुपए है. वहीं चीनी की कीमत 72 रुपए प्रति किलो हो गई हैं.

कितना महंगा बिक रहा सामान

प्रोडक्ट दाम

प्याज 64.69 रुपए प्रति किलो

टमाटर 99 रुपए प्रति किलो

चीनी 77.30 रुपए प्रति किलो

केले 130 रुपए दर्जन

सरसों का तेल 246 रुपए प्रति लीटर

दूध 108 रुपए प्रति लीटर

दही 122 रुपए प्रति किलो

मटन 1009 रुपए प्रति किलो

केरोसिन 151.25 रुपए प्रति लीटर

LPG सिलेंडर 1362.50 रुपए (11 लीटर)

पेट्रोल 113.18 रुपए प्रति लीटर

डीजल 127.30 रुपए प्रति लीटर

6 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंची महंगाई

आपको बता दें कि पाकिस्तान में महंगाई 6 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है. जी हां, दरअसल इस पड़ोसी देश में महंगाई दर 10.34% पहुंच गई, जो नवंबर 2013 के बाद से सबसे अधिक है.

मालूम हो कि महंगाई को काबू में करने के लिए पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक ने ब्याज दर को पहले ही 10.75% कर दिया था. लेकिन, भारत के साथ ट्रेड बंद होने से महंगाई और बढ़ी है. वहीं, बढ़ती महंगाई और कम खपत की वजह से कुछ कंपनियों ने अपना कारोबार पाकिस्तान से समेटना शुरू कर दिया है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.