Loading...

बाजार में मिल रही हैं इको-फ्रेंडली राखी, गाय के उपले से बनकर हुई हैं तैयार

0 24

रक्षाबंधन का त्यौहार आने वाला है और बाजारों में हर राखियों की मिलने लग गई है। ज्यादातर लड़कियां अपने भाई को राखी बांधने के लिए सुंदर राखी की तलाश में भी है। लेकिन आजकल एक राखी सबसे ज्यादा चलन में है। जी हां आप बता दें कि यह राखी गाय के गोबर से बनाई गई है। फिलहाल इस राखी की खूब डिमांड भी है। क्योंकि इसको पर्यावरण के लिए भी सुरक्षित माना जा रहा है। उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले की श्री कृष्ण गौशाला में गाय के गोबर से राखी बनाने की शुरुआत की थी। यहां पर एनआरआई अलका ने लोहाती के नेतृत्व में काम शुरू किया गया था। आपको बता दें अलका इंडोनेशिया से नौकरी छोड़ कर अपने पिता के साथ इस गौशाला में हाथ बटा रही है।

जानिए कैसे हुई इसकी शुरुआत

अलका इस बात को कहती है कि मैं जूना अखाड़ा से जुड़ी हुई हूं। इस साल कुंभ मेले में मैंने अपनी राशियों को भी खूब दिखाया है। वहां के संतों ने मेरी राखी की खूब तारीफ की है और आम लोगों ने भी इस राखी को बनाने और बेचने की गुजारिश की है। इसके बाद मैंने मैन्युफैक्चरिंग एक्सपर्ट के साथ मिलकर इस विषय पर बातचीत की और मुझे यूपी का उड़ीसा और उत्तराखंड से राखी बनाने के लिए आर्डर भी आए और रक्षाबंधन के त्यौहार के लिए कम से कम हजारों राखियां बनाई है।

इतना ही नहीं अलका नहीं इस बात पर यह भी कहा कि मैंने कई तरह की अलग-अलग शेप में और साइंस में राशियों को डिजाइन किया है। और फिर वह गाय के गोबर के साथ रखकर किसी अंधेरी ठंडी जगह पर रखा। ताकि वह अच्छे से सुख सके और उसके बाद मैंने उन पर इको फ्रेंडली कलर और धागे लगाए और उनको डेकोरेट किया।

Loading...

अलका ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि गाय के गोबर से बनी राखी आसानी से खराब हो जाती है। इसलिए उनकी राज्यों के निर्माण के आखिरी चरण तक पहुंच पाना काफी ज्यादा कठिन था। हालांकि विशेषज्ञों के साथ मिलकर राखियों का निर्माण कर रहे थे। तब जाकर उन्हें राखी बनाने का काम पूरा किया। उन्होंने इन राखियों को ठंडी जगह पर रखा। ताकि वो थोड़ी सी सख्त हो जाए या मार्केट में किफायती दाम पर उपलब्ध है।

गाय के गोबर से बनी राखी का विचार खूब ज्यादा वायरल हो रहा है। इसके अलावा श्री कृष्ण गौशाला में गाय के गोबर से और कई सारी चीजों को बनाया जा रहा है। जैसे कि फूलों का गुलदस्ता और कीटाणु नाशक गोमूत्र।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.