Loading...

अमेरिका में ‛हाउडी मोदी’ सम्मेलन को लेकर जबरदस्त क्रेज, पहले ही हफ्ते में फुल हो गईं स्टेडियम की 90 फीसदी सीटें

0 6

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में काफी प्रसिद्ध हैं और खासतौर पर अमेरिका में तो उनके दीवानों की कोई कमी नहीं है। यही कारण है कि एक बार फिर मोदी अपना जलवा अमेरिकी की धरती पर बिखेरने जा रहे हैं।

Loading...

जी हां, दरअसल अब अमेरिका के हृयूस्टन शहर में 22 सितंबर को पीएम मोदी भारतीय-अमेरिकी समुदाय को संबोधित करेंगे। जी हां, बता दें कि इसे हाउदी मोदी सम्मेलन नाम दिया गया है। दरअसल हाउदी का मतलब ‘हाऊ डू यू डू’ यानी कि आप कैसे हैं होता है। बता दें कि इस सम्मेलन को लेकर इंडो-अमेरिकन में जबरदस्त क्रेज देखा जा रहा है।

40 हजार लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन

Loading...

जानकारी के लिए बता दें कि दक्षिण पश्चिमी अमेरिका में आम तौर पर लोग एक दूसरे से मिलते वक्त हाल चाल जानने के लिए हाउदी का इस्तेमाल करते हैं। दरअसल इसी वजह से इस सम्मेलन को ‘हाउडी मोदी’ सम्मेलन का नाम दिया गया है। बता दें कि सम्मेलन में शिरकत करने के लिए पहले हफ्ते में ही करीब 40 हजार लोग रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं।

एंट्री फीस है बिल्कुल मुफ्त

मालूम हो कि ह्यूस्टन के एक गैर सरकारी संगठन ‘टेक्सास इंडिया फोरम’ ने इस संबंध में बताया कि समारोह में आने के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जा रहा। हालांकि इसके लिए संबंधित व्यक्ति के पास रजिस्ट्रेशन होना आवश्यक है।

बता दें कि अमेरिका के चौथे सबसे अधिक आबादी वाले शहर के ‘एनआरजी फुटबॉल स्टेडियम’ में आयोजित हो रहे इस कार्यक्रम में करीब 50 हजार लोगों के आने की उम्मीद है। जी हां, दरअसल ह्यूस्टन को विश्व की एनर्जी कैपिटल के रुप में जाना जाता है। वहीं पीएम मोदी के लिए एनर्जी सिक्योरिटी हमेशा से अहम रहा है।

ह्यूस्टन में रहते हैं काफी भारतीय

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ह्यूस्टन में भारतीयों की अच्छी खासी आबादी है। दरअसल यहां 5 लाख से अधिक भारतीय-अमेरिकी समुदाय के लोग रहते हैं। मालूम हो कि ह्यूस्टन के मेयर सिल्वेस्टर टर्नर ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री मोदी का ह्यूस्टन में स्वागत करने के लिए उत्साहित हूं, जहां बड़ी संख्या में भारतीय समुदाय के लोग रहते हैं। आपको बता दें कि सितंबर माह में पीएम मोदी संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र में हिस्सा लेने के लिए अमेरिका जा रहे हैं।

मोदी पूर्व में भी अमेरिका में कर चुके हैं ऐसे इवेंट

आपको याद दिला दें कि इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पहले कार्यकाल में मैडिसन स्क्वॉयर में साल 2014 में भारतीय-अमेरिकी समुदाय को संबोधित किया था और फिर साल 2016 में सिलिकन वैली में इसी तरह का इवेंट किया था। बता दें कि दोनों ही इवेंट में करीब 20 हजार से ज्यादा लोग शामिल हुए थे।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.