Loading...

इस लड़के का चेहरा देख डर जाएंगे आप, दुर्लभ बीमारी के कारण चेहरे पर उग आए हैं बाल

0 3,357

आपने आजतक कई तरह की बीमारियों के बारे में सुना होगा लेकिन इस बीमारी के बारे में आपने न कभी सुना होगा और न ही कभी इस बीमारी से ग्रसित किसी को देखा होगा। जी हां, दरअसल 13 साल के ललित पाटीदार को एक ऐसी बीमारी है जिसकी वजह से उसके चेहरे के बाल 5 सेंटीमीटर तक बढ़ जाते हैं।

Loading...

बता दें कि मध्य प्रदेश में रहने वाले ललित पाटीदार वरवोल्फ सिंड्रोम से जूझ रहे हैं।दरअसल इस दुर्लभ बीमारी के कारण उसके चेहरे पर बाल उग आए हैं। हालांकि इस अत्यंत गंभीर बीमारी के बावजूद ललित ने हार नहीं मानी है।

दरअसल 13 साल के ललित पाटीदार कहते हैं कि अजनबी मुझ पर पत्थर फेंकते हैं और बंदर कहकर बुलाते हैं। मैंने भी अपने रूप को स्वीकार कर लिया है। ललित की यह भी इच्छा है कि एक दिन वो पुलिस फोर्स ज्वॉइन करें।

Loading...

ललित के अनुसार सबसे बुरा समय वो था जब मुझे बालों के कारण सांस लेने और दाएं-बाएं देखने में दिक्कत होती थी। कभी-कभी इच्छा होती है मैं भी दूसरे बच्चों जैसा दिखूं, लेकिन कुछ नहीं कर सकता है। इसलिए जैसा हूं वैसे ही खुश हूं।

ललित की मां पर्वतबाई कहती हैं कि परिवार में 14 लोग हैं। जन्म से ही उसके शरीर पर आम बच्चों की तुलना में बहुत ज्यादा बाल हैं। वहीं ललित के पिता बंकटलाल पेशे से एक किसान हैं।

ललित के स्कूल के हेडमास्टर बाबूलाल मकवाना कहते हैं कि वह स्कूल में दो साल से पढ़ रहा है। पढ़ाई के साथ खेलों में अच्छा प्रदर्शन करता है। ललित अपनी कक्षा में सबका प्रिय है। स्कूल के शुरुआती दिनों में लोग ललित से बात करने में कतराते थे,लेकिन धीरे-धीरे सब सामान्य व्यवहार करने लगे हैं।

यहां आपको बता दें कि कंजेनिटल हायरट्राइकोसिस एक जन्मजात लाइलाज बीमारी है। जन्म में बाद शरीर पर बालों की लंबाई तेजी से बढ़ने लगती है और यह करीब 5 सेमी तक होती है। चेहरा, हाथ और पीठ पर खासतौर पर अधिक बाल दिखाई देते हैं।

एक्सपर्ट्स के मुताबिक इस बीमारी के वर्तमान में ब्लीचिंग, ट्रिमिंग, शेविंग, वैक्सिंग, इलेक्ट्रोलसर्जिकल एपिलेशन और लेजर हेयर रिमूवल ही इलाज के विकल्प हैं।

ललित के विचित्र रूप को लेकर डॉ राजेश शर्मा का मानना है की यह हाइपर ट्राइकोसिस कंडीशन होती है, जिसमे बहुत ज्यादा बाल शरीर पर हो जाते हैं। इसका इलाज हो सकता है। लेकिन इसके लिए लगातार डॉक्टर्स के संपर्क में रहना पड़ेगा।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.