Loading...

इन 6 बीमारियों को छूमंतर कर देती है मुलेठी, ऐसे करें इसका इस्तेमाल

0 79

मुलेठी को अभी तक खांसी ठीक करने के लिए ही जाना जाता था। लेकिन आज हम आपको बताएंगे मुलेठी से होने वाले बेहतरीन फायदों के बारे में । वहीं अगर बात करें तो यह स्वाद में काफी ज्यादा मीठी होती है। मुलेठी कैल्शियम ऐसे एंटीऑक्सीडेंट एंटीबायोटिक प्रोटीन और वसा से भरपूर होती हैं। आपको बता दें कि मुलेठी का उपयोग कड़वी औषधियों का स्वाद बदलने के लिए किया जाता है। मुलेठी का प्रयोग आंखों के हो मुंह के रोग गले के रोग दमा दिल का रोग बालों को मुलायम आवाज को सुरीला बनाने के लिए किया जाता है। लेकिन कई रोग ऐसे होते हैं ।जिसमें मुलेठी का इस्तेमाल किया जाता हैं।

पेट के घाव

मुलेठी पेट में बन रहे घाव को जड़ से खत्म करने का काम करती है। पेट के घाव कि यह सफल औषधि में से एक है । मुलेठी का सेवन लंबे समय तक नहीं करना चाहिए इसे बीच-बीच में बंद कर देना चाहिए।

खांसी कफ का इलाज

Loading...

मुलेठी के अंदर कई सारी औषधीय गुण पाए जाते हैं। जो खासी और कफ का इलाज करने में कारगर साबित होते हैं। खांसी से निजात पाने के लिए एक गिलास पानी में 5 ग्राम मुलेठी का चूर्ण डालकर इस अच्छे से उबाल लें। उसके बाद उसको रोज सुबह शाम आधा-आधा कर सोने से पहले लें।

जलन में राहत

मुलेठी और लाल चंदन पानी के साथ किस का शरीर पर लेप लगाने से यह जलन की समस्या में राहत प्रदान करता हैं।

एसिडिटी की समस्या

खाना खाने के बाद अगर आपको एसिडिटी की समस्या परेशान कर रही हैं। या फिर आपके पेट में जलन होती है तो आपको ऐसे में मुलेठी के छोटे-छोटे टुकड़ों का सेवन करना चाहिए।

कब्ज की समस्या

करीब 125 ग्राम पिसी हुई मुलेठी तीन चम्मच पिसी हुई सोंठ दो चम्मच पर से गुलाब के सूखे फूल एक गिलास पानी में उबाल लें। जब यह ठंडा हो जाए तो उसे छानकर सोते वक्त पीए।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.