Loading...

अगर आपको WhatsApp पर मिले ये मैसेज तो तुरंत कर दें डिलीट, वरना खाली हो जाएगा बैंक अकाउंट

0 6

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स में सबसे प्रचलित जो प्लेटफॉर्म है या एप्लीकेशन है वह है व्हाट्सएप जी हां, दरअसल व्हाट्सएप हमारे जीवन की एक महत्वपूर्ण कड़ी बन चुकी है. व्हाट्सएप के बिना ना तो हमारे दिन की शुरुआत होती है ना ही हमारा दिन इसके बिना खत्म होता है।

इसमें तो कोई दोराय वाली बात नहीं कि आज के समय में मैसेजिंग ऐप WhatsApp सबसे ज़्यादा इस्तेमाल किए जाने वाला ऐप है। और शायद यही वजह है कि कंपनी अपने ग्राहकों के लिए समय-समय पर नए ऑफर एवं नए फीचर लाती रहती है। लेकिन साथ ही इसमें कई वायरल खबरें भी आती हैं।

दरअसल व्हाट्सएप के जरिए कोई भी बात बड़ी तेजी से फैलती है और अफवाह फैलाने वाले लोग इसी बात का फायदा उठाते हैं। ऐसे में आपमें से कई लोग ऐसे होंगे जिनके पास 1000 जीबी फ्री डाटा मिलने का मैसेज आया होगा। तो चलिए जानते हैं कि क्या है इस मैसेज की सच्चाई और क्या सच में आपको 1000 जीबी डाटा मिलेगा अथवा नहीं..

Loading...

इस वायरल मैसेज में क्या लिखा है

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस मैसेज में दरअसल यह कहा जा रहा है कि WhatsApp अपने यूजर्स को 1000GB फ्री इंटरनेट दे रहा है। मालूम हो कि इस मैसेज के साथ डाटा के लिए क्लेम करने के लिए एक लिंक भी दिया जा रहा है। बता दें कि मैसेज के साथ यह भी कहा जा रहा है कि व्हाट्सएप के 10 साल पूरे होने पर कंपनी यह ऑफर दे रही है।

लिंक पर क्लिक करने पर पर क्या आ रहा है

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस मैसेज के साथ मिलने वाला लिंक भी फर्जी है। जी हां, दरअसल इस लिंक का यूआरएल व्हाट्सएप के डोमेन से अलग है। ऐसे में इस लिंक पर आपके द्वारा दी गई जानकारियों का इस्तेमाल थर्ड पार्टी प्रमोशन में हो सकता है।

मालूम हो कि, इसके अलावा इस लिंक के जरिए आपके फोन में एप इंस्टॉल करवाकर बैंक डीटेल ली जा सकती है और आपके साथ धोखाधड़ी हो सकती है। जी हां, तो ऐसे में इस लिंक पर क्लिक करना खतरे से खाली नहीं है।

व्हाट्सएप का क्या है कहना

आपको बता दें कि व्हाट्सएप ने इस मैसेज को लेकर यह साफ-साफ कहा है कंपनी कोई फ्री डाटा नहीं दे रही है और यह मैसेज पूरी तरह से फेक है। दरअसल व्हाट्सएप ने कहा है कि इस मैसेज पर भरोसा ना करें और लिंक पर क्लिक करके अपनी कोई जानकारी ना दें।

क्या इस मैसेज के जरिए फोन में वायरस वाला एप डाला जा सकता है

मालूम हो कि welivesecurity के शोधकर्ताओं के अनुसार अभी तक इस बात का कोई प्रमाण नहीं मिला है कि हैकर्स इस मैसेज के साथ दिए जा रहे लिंक के जरिए फोन में वायरस इंस्टॉल करवा रहे हैं, लेकिन आपके लिए यह आवश्यक है कि आप किसी भी तरह की अपनी कोई निजी जानकारी इसके साथ साझा ना करें वरना होने को कुछ भी हो सकता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.