Loading...

इंडियन रेलवे करने जा रही है सबसे बड़ी छटनी, 3 लाख कर्मचारियों को गंवानी पड़ सकती है नौकरी

0 24

अगर आप या आपका कोई जानकार भारतीय रेलवे में नौकरी करता है तो बता दें कि इंडियन रेलवे में जॉब करने वालों के लिए एक बुरी खबर आई है. जी हां, दरअसल अब जल्द ही भारतीय रेलवे बड़े पैमाने पर छंटनी करने की योजना बना रहा है. सूत्रों की मानें तो भारतीय रेलवे के सभी जोन से मिलाकर 3 लाख रेलवे कर्मचारियों की छंटनी हो सकती है.

मालूम हो कि मंत्रालय ने इस संबंध में रेलवे जोन प्रमुखों को चिट्ठी भी लिखी है. हालांकि, यहां बता दें कि इस छंटनी की गाज दरअसल उन कर्मचारियों पर गिरेगी जिनकी उम्र 55 साल से ज्यादा है. दरअसल रेल मंत्रालय ने कर्मचारियों के परफॉर्मेंस रिव्यू करने के आदेश दिए हैं.

इन कर्मचारियों पर गिर सकती है गाज

मालूम हो कि मंत्रालय ने सभी जोनल मैनेजर को चिट्ठी लिखकर 55 वर्ष से ज्यादा के कर्मचारियों की लिस्ट तैयार करने को कहा है. दरअसल ऐसा आदेश दिया गया है कि लिस्ट में उन कर्मचारियों को शामिल किया जाए, जिनकी भारतीय रेलवे में नौकरी को 30 साल 2020 की पहली तिमाही तक पूरे हो रहे हैं. यही नहीं, इसके साथ ही इन कर्मचारियों के परफॉर्मेंस को रिव्यू करने के भी आदेश दिए गए हैं.

Loading...

कर्मचारियों की संख्या घटाने पर जोर

आपको बता दें कि भारतीय रेलवे का जोर दरअसल इस बात पर है कि कर्मचारियों की संख्या घटाकर कम की जाए. सूत्रों की मानें तो, बड़े पैमाने पर छंटनी के जरिए रेलवे अपने 13 लाख से ज्यादा कर्मचारियों की संख्या को 10 लाख तक लाने की कोशिश कर रहा है.

दरअसल यही वजह है कि रेलवे बोर्ड ने चिट्ठी लिखकर सभी जोन के कर्मचारियों का परफॉर्मेंस रिव्यू करके उनका सर्विस रिकॉर्ड तैयार करने को कहा है.

9 अगस्त तक भेजना है जवाब

मालूम हो कि रेलवे बोर्ड ने सभी जोन प्रमुखों को यह चिट्ठी 27 जुलाई को लिखी है. दरअसल सभी जोनल प्रमुख से लिस्ट तैयार करके 9 अगस्त तक जवाब देने को कहा है. आपको बता दें परफॉर्मेंस रिव्यू के तहत सभी जोन से कर्मचारियों के फिजिकल फिटनेस, मेन्टल फिटनेस के साथ-साथ रोजाना हाज़िरी यानी कि अटेंडेंस और अनुशासन को लेकर रिपोर्ट तैयार करने का भी आदेश दिया गया है.

जानिए क्या कहते हैं रेलवे अधिकारी

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रेलवे ने इस मामले में सफाई भी दी है. जी हां, दरअसल रेलवे के एक अधिकारी का इस विषय में यह कहना है कि रेलवे में इस तरह का रिव्यू समय-समय पर किया जाता है.

अधिकारी ने कहा कि किसी भी कर्मचारी के खराब परफॉर्मेंस के चलते उसे समय से पहले रिटायर करने का भी प्रावधान है. अधिकारी के अनुसार यही प्रमुख वजह है कि इस तरह की लिस्ट तैयार करने को कहा गया है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.