Loading...

देवों के देव महादेव का एक ऐसा मंदिर जहां हर पल रूप बदलता है शिवलिंग

0 147

देवों के देव महादेव कहे जाने वाले भगवान शिव जी सभी देवताओं में प्रमुख सावन के महीने में आर्शीवाद लेने भक्तों की भीड़ लगी रहती है. लेकिन शिव जी का एक ऐसा भी मंदिर है जहां पूरे वर्ष भर भक्तों का तांता लगा रहता है. सीतापुरा के नैमिषारण्य भूतनाथ मंदिर विशेषताओं के लिए पूरे देश में प्रसिद्ध है. मान्यता है कि इस मंदिर में शिवलिंग की स्थापना भगवान ब्रह्मा के द्वारा की गई थी. आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन यह मंदिर दिन में तीन बार अपना रूप बदलता है, जिस कारण से यह नैमिषारण्य का कोतवाल कहलाता है.

चक्रतीर्थ के पास भगवान महादेव का यह मंदिर स्थित है. नैमिषारण्य की पवित्र भूमि पर 88 हजार ऋषियों ने तप किया है. मान्यता है कि यहां भूतेश्वर नाथ मंदिर में स्थित शिवलिंग दिन में तीन बार अपना रूप बदलती है.

इस मंदिर के पुजारियों का कहना है कि भगवान भूतेश्वर नाथ के इस मंदिर में महादेव साकार विग्रह रूप में विराजित है, जबकि पूरे देश में अन्य सभी शिवालयों में भगवान के निराकार स्वरूप के दर्शन होते हैं.

Loading...

इस मंदिर का शिवलिंग तीन बार रूप बदलता है. प्रात काल में शिवलिंग का रूप बाल्यकाल का होता है, जबकि दोपहर में यह रूद्र रूप धारण कर लेता है. शायकाल में इसका रूप दयालुता में परिवर्तित हो जाता है.

नैमिषारण्य में स्थित भगवान भूतेश्वर मंदिर के पुरोहित सुनीत पांडे का कहना है की पुराणों में इस मंदिर के बारे में जिक्र मिलता है. चक्रतीर्थ में स्नान करने वाला हर व्यक्ति जब भूतेश्वर नाथ के मंदिर में कोई भी मनोकामना मांगता है, तो उसकी मन्नत भगवान जरूर पूरी करते हैं. कहा जाता है कि इस मंदिर के तीनों स्वरूपों का जो व्यक्ति दर्शन कर लेता ,है उसे भगवान भोलेनाथ एक दिन जरूर प्रत्यक्ष रूप से दर्शन देते हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.