Loading...

अगर आप भी हैं DTH के बढ़ते बिल से परेशान, तो ऐसे कम कर सकते हैं बोझ

0 12

हाल ही के समय में टीवी देखने के अनुभव में काफी बदलाव देखने को मिले हैं और उसकी वजह है ट्राई। दरअसल ट्राई ने अपनी मर्जी के चैनल देखने और उसी के दाम देने का नियम लागू किया था हालांकि उससे अब बिल घटने की बजाय बढ़ गया है।

जी हां, दरअसल डीटीएच ग्राहकों का कहना है कि उनका महीने का बिल 100% तक बढ़ गया है। अब इसी वजह से उपभोक्ता फिर से पुराने पैक की मांग कर रहे हैं। ऐसे में अगर आप भी डीटीएच या केबल के बढ़े बिल से परेशान हैं तो समझदारी से चैनल चुनकर थोड़ी राहत पा सकते हैं। चलिए जानते हैं..

ट्राई का है यह कहना

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ट्राई के सचिव एस. के गुप्ता का इस विषय में कहना है कि पुराने पैक में पहले शुल्क में लचीलापन नहीं था। दरअसल ट्राई का यह इरादा नहीं है कि नए नियम से अधिक शुल्क चुकाना हो। ग्राहकों में अभी भी फ्री-टू-एयर और दूसरे चैनल के शुल्क को लेकर जानकारी का अभाव है।

Loading...

100% बढ़ी टीवी देखने की लागत

मालूम हो कि दिल्ली के आशीष चुघ के अनुसार ट्राई के नए नियम लागू होने के बाद टीवी देखने की लागत 100% बढ़ चुकी है। उनका कहना है कि उनके घर में 4 टीवी सेट हैं। पहले उनको सभी चैनल के लिए 9000 रुपये सालाना भुगतान करना पड़ता था।

वहीं 3 सेट-टॉप बॉक्स के लिए 250 रुपये अलग से भुगतान करना होता था। हालांकि फरवरी के बाद तीन सेट-टॉप बॉक्स के लिए 400 रुपये भुगतान करना पड़ा। वहीं मई आते ही सभी 4 कनेक्शन के लिए 750 रुपये का शुल्क लिया जाने लगा, जिससे उनका बिल प्रत्येक महीना 3000 रुपये हो गया।

तय अवधि के चैनल को बाद मेंं बंद कर दें

आपको बता दें कि नए नियम से एक दिन के लिए भी चैनल चुनना संभव है। दरअसल अगर आप एक तय समय के लिए कोई चैनल चुनते हैं तो उसको उस अवधि के बाद पैक से बाहर कर दें। जैसे अगर क्रिकेट वल्र्ड कप के दौरान आपने को स्पोर्ट्स चैनल सब्सक्राइब किया तो वल्र्ड कप खत्म होने के बाद उसे बंद कर दें।

मालूम हो कि चैनल का शुल्क रोज लिया जाता है। ऐसे में आप जितने दिन वह चैनल देखेंगे उतने ही दिन का भुगतान करना होगा। यही कारण है कि चैनल चुनने से पहले शुल्क की तुलना करें और वही चैनल चुनें जो आप देखते हैं।

पुराने पैक को वापस लाने की हो रही मांग

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि तेलंगाना केबल ऑपरेटर्स फेडरेशन के सचिव सुनील कुमार के मुताबिक उपभोक्ता अब पुराने पैक को वापस चाहते हैं क्योंकि नए नियम से टैरिफ में वृद्धि हुई है।

दरअसल पुराने नियम में एक औसत उपभोक्ता को 200 से 250 रुपये का भुगतान करना होता था जो अब बढ़कर 350 रुपये हो गया है। केवल 155 रुपये तो फ्री-टू-एयर चैनल के लिए ही भुगतानकरने होते हैं। ऐसे में अगर उपभोक्ता एचडी चैनल चुनता है तो उसका बिल 1000 रुपये पहुंच जा रहा है। इस विषय में हमने ट्राई से शिकायत की है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.