Loading...

अब पुरानी कार रखना पड़ेगा महंगा, मोदी सरकार बड़ा सकती है रजिस्ट्रेशन समेत अन्य फीस

0 29

ऑटोमोबाइल बाजार का भविष्य इलेक्ट्रिक वाहन ही हैं और इसी बात को समझते हुए इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार ने बीते शुक्रवार को मोटर वाहन अधिनियम में संशोधन का प्रस्ताव किया है।

दरअसल केंद्र सरकार के प्रस्ताव के मुताबिक पुरानी कार को नष्ट करके नई खरीदने पर रजिस्ट्रेशन फीस में छूट देने की तैयारी की जा रही है। बता दें कि नई कार खरीदने पर तभी छूट मिलेगी, जब आप नष्ट कार का सर्टिफिकेट दिखाएंगे। इसके साथ ही समान कैटेगरी की कार खरीदने पर ही छूट का फायदा भी उठाया जा सकेगा।

6 महीने में कराना होगा फिटनेस टेस्ट

मालूम हो कि केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय के ड्राफ्ट के मुताबिक कार को नष्ट करने का सर्टिफिकेट एक सरकारी की मान्यता प्राप्त एजेंसी की तरफ से जारी किया जाएगा। इतना ही नहीं, पुरानी गाड़ियों की बात की जाए तो 15 साल पुरानी कार रखने वाली को अब 6 महीने में वाहन का फिटनेस सर्टिफिकेट रिन्यू कराना होगा।

Loading...

आपको बता दें कि यह अभी ति एक साल में करना होता था। यही नहीं, फिटनेस टेस्ट में देरी पर 50 रुपए रोजाना के हिसाब से जुर्माना लगाया जाएगा। यानी जितने दिन लेट उतने दिन 50 रु प्रति दिन के हिसाब से चार्ज लगेगा। इसके अलावा सरकार की तरफ से पुरानी कार का रजिस्ट्रेशन फीस बढ़ाने की भी तैयारी है।

कार का रजिस्ट्रेशन रिन्यू कराना होगा महंगा

आपको बता दें कि केंद्र की मोदी सरकार वाहनों का रजिस्ट्रेशन रिन्यू कराने की फीस 2000 रुपए कर सकती है, जो कि अभी 50 रुपए है। दरअसल इसी तरह थ्री व्हीकल की फीस को 5000 रुपए किया जा सकता है, जो मौजूदा वक्त में 300 रुपए है। इतना ही नहीं रजिस्ट्रेशन को रिन्यू करने पर एक्स्ट्रा चार्ज भी लगाया जा सकता है।

प्रदूषण खत्म करने के उद्देश्य से उठाया गया यह कदम

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मोदी सरकार की तरफ से पुराने वाहनों से होने वाले प्रदूषण को समाप्त करने के लिए इस तरह के कदम उठाए जा रहे हैं। ऐसा इसलिए भी ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इलेक्ट्रिक वाहन की तरफ शिफ्ट करें। इसी कारण से हाल में ही केंद्र सरकार ने पिछले वर्षों में इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने वालों को लिए छूट देने का ऐलान भी किया है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.