Loading...

एक गांव से दूसरे गांव जा रहे थे दो लड़के, रास्ते में उन्हें थकान होने लगी तो एक पेड़ के नीचे आराम करने के लिए रुक गए, तभी एक लड़के ने कहा कि ये पेड़ तो बेकार है इसमें फल भी नहीं लगते

0 6,529

एक गांव में 2 लड़के रहते थे, जो एक दिन दूसरे गांव जा रहे थे। रास्ते में थक जाने की वजह से वे एक पेड़ के नीचे आराम करने लगे। तभी एक लड़के ने पेड़ की ओर देखा और फिर वह कहने लगा कि यह पेड़ किसी काम का नहीं है। इस पर तो फल भी नहीं लगता।

दूसरा लड़का बोला कि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। ये पेड़ हमारे बहुत काम का है। दूसरा लड़का सकारात्मक सोचता था। उसने अपने साथी से कहा कि थकान होने पर हम इस पेड़ के नीचे आराम कर रहे हैं। इस पेड़ की छाया में हमें सूर्य की तेज किरणों से बचने की जगह मिली।

हम दोपहर की चिलचिलाती धूप में इस पेड़ की वजह से ही राहत ले पाए। लेकिन यह बात तुम समझ नहीं सके। तुमने पेड़ की कमी देखी और इसे बेकार बता दिया। जबकि इस पेड़ में कई अच्छाइयां भी हैं।

कहानी की सीख

Loading...

हर इंसान को दूसरों में अच्छाइयां देखनी चाहिए। जो लोग केवल बुराइयां देखते हैं, वे दूसरों की अच्छाइयां नहीं देख सकते जोकि गलत है। हमें हमेशा सकारात्मक सोचना चाहिए और दूसरों की अच्छाइयों के लिए उनकी प्रशंसा करनी चाहिए।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.