Loading...

दुनिया की सबसे शातिर जासूस, दिखने में जितनी खूबसूरत, कारनामे है उससे भी ज्यादा खतरनाक

0 826

आपने आज तक कई शातिर जासूसों के बारे में सुना होगा लेकिन किसी महिला जासूस के बारे में कम ही सुना है. पर दुनिया में ऐसी कई महिला जासूस है जिन्होंने बड़े बड़े कारनामे किए हैं. ऐसी ही एक महिला जासूस जिसे लोग डबल एजेंट ‘माता हारी’ कहते थे.

इस जासूस का असली नाम मार्गेथा गीरत्रुइदा मैकलियोड था, इसने अपनी सुंदरता और कामुक नृत्यता के दम पर जासूसी की थी. हालांकि बाद में पता चलने पर इसे जासूसी के आरोप में प्रथम विश्वयुद्ध के बाद गोली मार दी गई थी.

इस महिला जासूस पर 1931 में हॉलीवुड फिल्म भी बन चुकी है जिसमें ग्रेटा गर्बो मुख्य भूमिका निभा रही थी. इस जासूस का जन्म हॉलैंड में हुआ था और उसका पति एक फौजी कॅप्टन था. मार्गेथा एक बुरे रिश्ते में फस गई थी जिस कारण उसने अपना नवजात शिशु भी खो दिया था.

Loading...

मार्गेथा ने इटली के मिलान स्थित ला स्काला और पेरिस के ओपेरो में खुद को ‘माता हारी’ की पहचान दिलाते हुए, कामुक नृत्यांगना बन कर उभरी. 1905 के बाद से लोग मार्गेथा को माता हरी के नाम से जानने लगे.

माता हारी इतनी सुंदर थी कि वो किसी को भी अपनी कामुक्ता के दम पर गुलाम बना सकती थी. इस कारण जर्मनी ने इसे बहुत सारे पैसे देकर अपना जासूस बना लिया. उसके बाद से वो जर्मनी को कई खुफिया जानकारियां देने लगी.

यह एक ऐसी जासूस थी जिसने खुद कोई खून नहीं किया लेकिन इसकी दी गई जानकारी के दम पर इसने 50000 फ्रांसीसी सैनिकों को मौत के घाट उतरवा दिया. अपने सैनिकों की मौत के बाद से फ्रांस ने माता हारी को शक के घेरे में ले लिया था.

1917 में फ्रांस को पता चल गया कि माता हारी जर्मनी के लिए जासूसी कर रही है तो फरवरी 1917 में उसे पेरिस से गिरफ्तार कर लिया गया. फ्रांस ने माता हारी को संगीन जुर्मों के कारण गोली मारकर मृत्युदंड देने का फैसला किया. साल 2017 में एक बार फिर से माता हारी पर बहस छिड़ी. आज भी फ्रांस के लोग इस सुंदरी को ‘फेमिनिन सिडक्शन’ यानी कि देशद्रोही के प्रतीक के रूप में देखते हैं.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.