Loading...

PAN कार्ड बनवाने के लिए कहीं आप भी तो नहीं दे रहे ज्यादा रुपए, जानिए क्या है असल फीस

0 13

हम सभी जानते हैं कि पैन कार्ड कितना आवश्यक है। बता दें कि पैन कार्ड हर जगह काम आता है और आपकी एक लीगल पहचान देने में मदद करता है। दरअसल पर्मानेंट अकाउंट नंबर एक 10 डिजिट का अल्फान्यूमेरिक आईडी है जो कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की तरफ से जारी की जाती है।

वैसे इसको बनवाना तो आसान है लेकिन ऐसा भी देखा गया है कि पर्मानेंट अकाउंट नंबर के लिए कई बार एजेंट लोगों से अधिक रुपए वसूल लेते हैं, जबकि नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड यानी कि एनएसडीएल ने अलग-अलग स्थितियों में पैन कार्ड के लिए फीस तय कर रखी है। जैसे भारत में पैन कार्ड घर पर केवल 91 रुपए में बनाकर पहुंचा दिया जाता है।

हालांकि यह अलग बात है कि इस रकम में टैक्स की रकम शामिल नहीं है। बता दें कि कर के साथ कुल शुल्क 107 रुपए हो जाता है। यानी कि इसका मतलब यह हुआ कि 110 रुपए से भी कम में पैन नंबर जारी किया जाता है। ऐसे में जानिए किस स्थिति में कितनी लगती है पैन कार्ड के लिए फीस।

Physical PAN Card’s Fees

Loading...

आपको बता दें कि फिजिकल पैन कार्ड वह होता है, जो आवेदक को घर पर प्लास्टिक कोटेड कार्ड के रूप यानी कि हार्ड कॉपी में पहुंचाया जाता है। मालूम हो कि उस पर पैन कार्ड धारक का नाम, पैन संख्या और जन्मतिथि लिखी होती है, जबकि साथ में फोटो भी होता है। नीचे दिए गए चार्ट में देखें फिजिकल पैन कार्ड के लिए फीस का ब्यौराः

E-PAN Card’s Fees

मालूम हो कि जब आवेदक इलेक्ट्रॉनिक पैन/ई-पैन चाहता है, तब उसे सॉफ्ट कॉपी के तौर पर पीडीएफ फॉर्मेट में पैन संख्या जो भी रजिस्टर्ड ई-मेल आईडी होती है उस पर भेजी जाती है। जानिए इसके लिए एनएसडीएल ने क्या तय कर रखा है शुल्क। ये है फीस का ब्यौरा:

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.