Loading...

LIC ने लांच किया नवजीवन इंश्योरेंस प्लान, 90 दिन के बच्चे से 65 साल के बुजुर्ग तक कोई भी ले सकता है

0 297

LIC की यूं तो कई अलग अलग किस्म की पॉलिसियां हैं लेकिन अभी कुछ ही दिनों पहले नवजीवन नाम का एक नई इंश्योरेंस पॉलिसी लॉन्च हुई है जो थोड़ी सी खास है. दरअसल इसमें प्रोटेक्शन और सेविंग दोनों तरह के फीचर हैं. बता दें कि यह पॉलिसी नॉन लिंक्ड पार्टिसिपेटिंग एंडोमेंट लाइफ इंश्योरेंस है. इस प्लान का नंबर 853 है.

मालूम हो कि इस नए प्लान में पॉलिसी होल्डर को सिंगल प्रीमियम पेमेंट की सुविधा भी मिलती है. इसके अलावा 5 साल तक भी प्रीमियम भरा जा सकता है. बता दें कि ये इंश्योरेंस प्लान 90 दिन के छोटे बच्चे से लेकर 65 साल की उम्र वाले व्यक्ति के लिए उपलब्ध है. यही नहीं इसमें 45 साल के बाद रिस्क सम एश्योर्ड चुनने का भी विकल्प होगा.

किस प्रकार खरीद सकते हैं पॉलिसी

आपको बता दें कि LIC का नवजीवन इश्योरेंस पॉलिसी ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीकों से खरीदा जा सकता है. मालूम हो कि ये प्लान एजेंट भी बेच सकेंगे. आपको बता दें कि इस पॉलिसी को सीधे LIC की वेबसाइट जिसका लिंक ये है https://eterm.licindia.in/onlinePlansIndex/login.do पर जाकर खरीदा जा सकता है.

Loading...

मिनिमम सम एश्योर्ड

मालूम हो कि नवजीवन इंश्योरेंस पॉलिसी का नंबर UIN 512N331VO1 है. दरअसल इस पॉलिसी में कम से कम 1 लाख रुपए का बीमा होगा. हालांकि अच्छी बात यह है कि अधिकतम बीमा कराने की कोई लिमिट नहीं है.

बता दें कि अगर किसी की आयु 45 वर्ष से ज्यादा है तो उसे लिमिटेड प्रीमियम में विकल्प 2 तरह के विकल्प मिलेंगे. दरअसल इसमें वार्षिक प्रीमियम का 10 गुना सम एश्योर्ड और दूसरे विकल्प में वार्षिक प्रीमियम का 7 गुना सम एश्योर्ड का विकल्प होगा.

पॉलिसी टर्म

मालूम हो कि इसके साथ LIC एक्सीडेंटल डेथ और डिसएबिलिटी राइडर का विकल्प भी दे रहा है. पॉलिसी के टर्म की बात करें तो इस खास पॉलिसी का टर्म 10 से 18 साल रहेगा. आप सिंगल प्रीमियम पॉलिसी को अधिकतम 44 साल की उम्र तक खरीद सकते हैं.

वहीं दूसरी तरफ लिमिटेड प्रीमियम पॉलिसी को अधिकतम 60 साल की उम्र तक खरीदा जा सकता है. बता दें कि नवजीवन इंश्योरेंस के सिंगल प्रीमियम प्लान में मैच्युरिटी की अधिकतम उम्र 62 साल है. हालांकि लिमिटेड इंश्योरेंस प्लान में ये 75 साल है.

टैक्स बचत

आपकी जानकारी के लिए बता दें इस नए इंश्योरेंस पॉलिसी में इनकम टैक्स की बचत भी आप कर सकते हैं. इसके अलावा इस पर लोन भी लिया जा सकता है. यानी कि हर तरफ से फायदा ही है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.