Loading...

अब आप फिंगर प्रिंट से बुक कर सकेंगे ट्रेन का टिकट, जनरल डिब्बों में नहीं होगी सीट की मारामारी

0 10

भारतीय रेलवे ने पिछले कुछ समय मे काफी बदलाव किए हैं जिसके कारण यात्रियों को कई तरह की नई सुविधाओं का लाभ मिला है. अब इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए रेल यात्रियों की सुविधा को बढ़ाने के उद्देश्य से इंडियन रेलवे में पहली बार टिकट के लिए बायोमीट्रिक सिस्टम का इस्तेमाल होगा.

बता दें कि रेलवे मंत्रालय अनारक्षित डिब्बों या जनरल डिब्बों में बायोमीट्रिक सिस्टम से टिकट देने की शुरुआत कर रहा है. दरअसल इससे यात्रियों को सीट मिलने में आसानी होगी, और प्लेटफॉर्म पर टिकट लेने एवं ट्रेन पकड़ने और असामाजिक तत्वों की मनमानी से भी छुटकारा मिलेगा.

बता दें कि ये पायलट प्रोजेक्ट वेस्टर्न रेलवे डिवीजन के मुंबई सेंट्रल रेलवे स्टेशन और बांद्रा टर्मिनल पर पहले ही शुरू कर दिया गया है. दरअसल इसके लिए दोनों स्टेशन्स पर 2-2 बायोमीट्रिक मशीन लगाए गए हैं.

किस तरह होगा इस्तेमाल

Loading...

आपको बता दें कि जनरल डिब्बों के लिए टिकट खरीद रहे यात्रियों को बायोमीट्रिक मशीन पर पर अपना फिंगरप्रिंट देना होगा. दरअसल इसके बाद उन्हें एक टोकन जेनरेट किया जाएगा. बता दें कि ये टोकन नंबर हर जनरल क्लास के कोच सीटों के नंबर के क्रम में अलॉट किए जाएंगे.

मालूम हो कि इसके बाद यात्रियों को अपने टोकन नंबर के क्रम में एक लाइन में खड़े होना होगा. बता दें कि एक आरपीएफ स्टाफ एंट्री पॉइंट पर खड़ा होगा जो टोकन का सीरियल नंबर चेक करेगा और पैसेंजर को उसी ऑर्डर में कोच में आने देगा.

ये सिस्टम इन ट्रेनों के जनरल कोचों के लिए काम कर रहा है

अमरावती एक्सप्रेस (मुंबई सेंट्रल स्टेशन)

जयपुर सुपरफास्ट एक्सप्रेस (मुंबई सेंट्रल स्टेशन)

कर्णावती एक्सप्रेस (मुंबई सेंट्रल स्टेशन)

गुजरात मेल (मुंबई सेंट्रल स्टेशन)

गोल्डेन टेंपल मेल (मुंबई सेंट्रल स्टेशन)

पश्चिम एक्सप्रेस (बांद्रा टर्मिनस)

अमरावती एक्सप्रेस (बांद्रा टर्मिनस)

अवध एक्सप्रेस (बांद्रा टर्मिनस)

महाराष्ट्र संपर्क क्रांति एक्सप्रेस (बांद्रा टर्मिनस)

रेलवे ने की ये है नई तैयारी

आपको बता दें कि रसोई गैस की तर्ज पर अब रेलवे में यात्रियों को सब्सिडी छोड़ने का विकल्प मिलेगा. मालूम हो कि रसोई गैस में सफल रही गिव ईट अप मुहिम अब रेलवे में भी पूरी तरह से लागू करने की तैयारी है.

दरअसल सूत्रों की मानें तो रेल मंत्रालय ऑनलाइन टिकट बुकिंग पर दौरान यात्रियों को सब्सिडी छोड़ने का विकल्प देने जा रहा है. माना जा रहा है कि IRCTC की वेबसाइट पर टिकट खरीदते वक्त सब्सिडी छोड़ने का विकल्प दिया जाएगा. हालांकि ये यात्री पर निर्भर करेगा कि वो सब्सिडी लेना चाहता है या नहीं.

रेलवे देती है यात्रियों को किराये में 47% सब्सिडी

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारतीय रेल मुसाफिरों को किराये पर 47% सब्सिडी देती है. बता दें कि सब्सिडी की भरपाई मालढुलाई से होने वाली कमाई से की जाती है. दरअसल इसके लिए सोशल मीडिया, रेल टिकट के पीछे, ट्रेन के अंदर और प्रिंट विज्ञापनों के जरिए जागरूकता फैलाई जाएगी. मालूम हो कि इस स्कीम की शुरुआत अगले महीने से हो सकती है.

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.